अमर उजाला के कार्यक्रम में भी घुस गया बदनाम बाबू अक्षत

अमर उजाला के अफसरों में बीच में धंसा बाबू अक्षत अशेष।
अमर उजाला के अफसरों में बीच में धंसा बाबू अक्षत अशेष।

बदायूं के दास कॉलेज में तैनात बाबू अक्षत अशेष फजीहत के बावजूद सुधरने को तैयार नजर नहीं आ रहा। शहर भर में आलोचना के केंद्र में आने के बाद भी आज फिर ड्यूटी पर न जाकर एक कार्यक्रम में मौजूद रहा। हालांकि कार्यक्रम के आयोजक अमर उजाला के अफसरों व प्रशासनिक अफसरों ने ध्यान तक नहीं दिया। कार्यक्रम में किसी ने बैठने तक को नहीं कहा, पर स्वयं ही अगली पंक्ति आकर धंस गया, जिससे हास्य का पात्र बना रहा।

अमर उजाला उत्तर प्रदेश में नारी सशक्तीकरण को लेकर कार्यक्रम आयोजित कर रहा है, जिसके अंतर्गत महिलाओं को न सिर्फ जागरूक कर रहा है, बल्कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं के हित में संचालित की जा रही योजनाओं के संबंध में जानकारी भी मुहैया करा रहा है, इसी क्रम में आज बदायूं क्लब में अमर उजाला ने कार्यक्रम आयोजित किया, जिसमें जिलाधिकारी पवन कुमार, एसएसपी सुनील कुमार सक्सेना सहित अन्य तमाम प्रशासनिक अफसर मौजूद रहे।

कार्यक्रम में विचार व्यक्त करती कवियत्री सोनरूपा।
कार्यक्रम में विचार व्यक्त करती कवियत्री सोनरूपा।

सुविख्यात कवियत्री व गायक सोनरूपा विशाल व महिला थाने की एसओ अनीता मिश्रा सहित कई सभ्रांत महिलाओं ने विचार व्यक्त किये, इस दौरान दास कॉलेज का कुख्यात बाबू अक्षत अशेष भी मौजूद रहा, इसे किसी ने न मंच पर बुलाया और न ही सामने बैठने को कहा, तो स्वयं ही टहलते हुए अगली पंक्ति में आकर बीच में धंस गया, जिससे हास्य का पात्र बना रहा। कार्यक्रम में अमर उजाला के जीएम सुप्रियो दास गुप्ता, ब्यूरो चीफ बलराम शर्मा के अलावा पत्रकार रिंकू पांडेय, पत्रकार पीयूष दुबे और छायाकार पत्रकार कुलदीप शर्मा सहित अमर उजाला के सभी स्थानीय कर्मी उपस्थित रहे।

कार्यक्रम में विचार व्यक्त करती एसओ अनीता मिश्रा।
कार्यक्रम में विचार व्यक्त करती एसओ अनीता मिश्रा।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

ड्यूटी न करने वाले बाबू अक्षत ने मंडलायुक्त का नाम बदला

दास कॉलेज में सपाई और बाबू रहे हावी, पत्रकारों को दी जूठन

ड्यूटी छोड़ कर सदर कोतवाली की बैठक में पहुंचा बाबू अक्षत

गुटबंदी में रूचि लेने के कारण नप गये डीएम सीपी त्रिपाठी

सांसद की चापलूसी में जुटे बाबू ने रुकवा दी सरस्वती वंदना

Leave a Reply