जिले में गूंजा विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, झंडा ऊंचा रहे हमारा

शहीद स्थल पर पुष्पांजलि अर्पित करते जिलाधिकारी शंभूनाथ।
शहीद स्थल पर पुष्पांजलि अर्पित करते जिलाधिकारी शंभूनाथ।
बदायूं जनपद में स्वतन्त्रता दिवस की 68वीं वर्षगांठ धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाई। सरकारी कार्यालयों में ध्वजारोहरण, शहीद स्मारकों पर पुष्पांजलि, श्रद्धांजलि देकर अमर शहीदों को नमन किया गया, साथ ही विभिन्न संस्थाओं द्वारा देश भक्ति से ओत-प्रोत कार्यक्रमों के आयोजन किये गये एवं स्कूलों व कालेजों में छात्र-छात्राओं ने स्वतन्त्रा दिवस को पर्व के रूप में मना। सभी तहसीलों, ब्लाक कार्यालयों पर भी ध्वजारोहरण किया गया।
शनिवार को स्वतन्त्रता दिवस का मुख्य कार्यक्रम कलेक्ट्रेट में आयोजित हुआ। जिलाधिकारी शम्भूनाथ ने ध्वजारोहण कर तिरंगे को सलामी दी और अधिकारियों, कर्मचारियों की आयोजित सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज़ादी एक ऐसा नाम है, जो सभी भारतीयों की रगों में खून बनकर दौड़ता है। अनगिनत स्वतन्त्रता सेनानियों ने अपने जीवन का बलिदान और 1857 से 1947 तक कई दशकों का संघर्ष कर आज़ादी दिलाई। भारत की आजादी के लिए अंग्रेजों के खिलाफ सबसे पहले ब्रिटिश सेना में काम करने वाले सैनिक मंगल पांडे ने उठाई, तमाम संघर्षों के बाद आज हम स्वतन्त्र हैं और पूरे विश्व में भारत की पहचान है, पूरी दुनिया में भारत के संविधान की मिसाल है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा महिलाओं की सुरक्षा, पोषण, गरीबों के उत्थान हेतु कई योजनाएं चलाई जा रही हैं, अधिकारी कर्मचारी अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए निष्ठा पूर्वक लग्न से कार्य करें, तभी आजादी का उद्देश्य सार्थक होगा।
अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) अशोक कुमार श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) राजेन्द्र प्रसाद यादव, नगर मजिस्ट्रेट अजय कुमार श्रीवास्तव और एसटीओ प्रवीण कुमार त्रिपाठी ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि सभी जाति, धर्म, वर्ग के लोगों ने कड़े संघर्ष से देश को आज़ाद कराया। कलेक्ट्रेट स्थित शहीद स्थल एवं स्मारक पर जिलाधिकारी सहित अन्य सभी अधिकारियों ने पुष्पांजलि अर्पित कर अमर शहीदों को नमन किया और पौधारोपण किया।
जिलाधिकारी ने गांधी जन्मशती नेत्र चिकित्सालय में भी ध्वजारोहण किया और गांधी जी की प्रतिमा पर माल्यापर्ण किया। नेत्र चिकित्सालय में आयोजित सभा को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी प्रताप सिंह भदौरिया ने कहा कि आज़ादी के बाद हमें अपने राष्ट्र को सभी मूलभूत अधिकार मिले। उन्होंने कहा कि देश ने तकनीकी, शिक्षा, वित्तीय क्षेत्र सहित कई दूसरे क्षेत्रों में तरक्की की और आज भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतन्त्र देश है। उन्होंने अमर शहीदों को नमन करते हुए श्रद्धांजलि दी। जिलाधिकारी व एसएसपी ने बदायूं क्लब में ध्वजारोहण किया। आर्येन्द्र प्रकाश द्वारा आयोजित भारत के स्वतन्त्रता संग्राम के देशभक्त, शहीदों तथा क्रान्तकारियों पर आधारित डाक टिकटों की प्रदर्शनी का अवलोकन कर सराहना की। बदायूं क्लब द्वारा 70 वर्ष से अधिक आयु के 18 वरिष्ठ सदस्यों को शाल तथा प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। पुलिस कार्यालय में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सौमित्र यादव तथा विकास भवन में सीडीओ प्रताप सिंह भदौरिया द्वारा ध्वजारोहण करने के बाद अधिकारियों, कर्मचारियों की एक सभा आयोजित हुई।
स्वतन्त्रता दिवस की पूर्व संध्या पर स्थानीय नगर पालिका परिषद में कवि सम्मेलन, मुशयरा तथा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित हुए। स्कूल चलो अभियान, साक्षरता दर बढ़ाने एवं नियमित टीकाकरण से सम्बंधित प्रातः 6.30 बजे प्रभात फेरी निकाली गई। स्पोर्ट्स स्टेडियम में महिला, पुरूष ओपन तथा 15 वर्ष की आयु से कम बालकों की दौड़ प्रतियोगिता आयोजित हुई। शहीद स्मारक सुभाष चौक, अम्बेडकर पार्क, गांधी ग्राउंड, शस्त्री चौक तथा नेहरू चौक के साथ ही ब्लाक स्तरों पर स्थापित महापुरूषों की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी गई। निर्बल बस्ती कबूलपुरा, नेकपुर स्थित अरबन हेल्थ पोस्ट, कबूलपुरा स्थित हिन्द क्लीनिक पर टीकाकरण किया गया। मोहल्ला नाहर खां सराय में श्रमदान तथा कुंवर रूकुम सिंह वैदिक इंटर कालेज में स्कूली बच्चों की भाषण प्रतियोगिता आयोजित हुई। शिक्षण संस्थाओं में छात्र-छात्राओं द्वारा खेलकूद, भाषण तथा वाद विवाद आदि प्रतियोगिताएं भी सम्बंधित प्रधानाचार्यों द्वारा आयोजित कराई गई। जिला चिकित्सालय एव जिला कारागार में स्वयं सेवी सेस्थाओं द्वारा फल बांटे गए। ग्राम इटौआ के शहीद हरओम सिंह, ग्राम बरा तेगदार के शहीद राम बाबू शर्मा, ग्राम संथरा के शहीद लांस नायक नेत्रपाल सिंह को भी श्रद्धांजलि दी गइ। देर रात स्थानीय नगर पालिका परिषद के म्यूनिटी हाॅल में सार्वजनिक सभा आयोजित हुई।

Leave a Reply