खुलेआम हो रहा है मिटटी और रेत का खनन, प्रशासन मौन

गंगा से रेत भर कर लाये गये ट्रैक्टर-ट्राली।
गंगा से रेत भर कर लाये गये ट्रैक्टर-ट्राली।

बदायूं का जिला प्रशासन शासनादेशों के विपरीत कार्य करता नजर आ रहा है। खनन पर पूरी तरह प्रतिबंध है, इसके बावजूद गंगा और मैदान में खुलेआम खनन किया जा रहा है, लेकिन प्रशासनिक अफसर पूरी तरह मौन धारण किये हुए हैं।

गंगा से खुलेआम ट्रैक्टर-ट्राली द्वारा रेत ढोया जा रहा है। प्रतिदिन दो हजार से भी अधिक ट्रैक्टर-ट्राली रेत भर कर निकाले जा रहे हैं, लेकिन प्रशासनिक अफसरों को एक भी ट्रैक्टर-ट्राली दिखाई नहीं दे रहा।

चंदोखर तालाब में मिटटी डालने जाते और आते ट्रैक्टर-ट्राली।
चंदोखर तालाब में मिटटी डालने जाते और आते ट्रैक्टर-ट्राली।

इसी तरह दातागंज तिराहे के पास माफियाओं द्वारा कब्जाये जा रहे प्राचीन तालाब में प्रतिदिन सैकड़ों ट्राली मिटटी डाली जा रही है, जिसका खनन बसंतनगर मार्ग पर स्थित एक खेत से किया जा रहा है, लेकिन यह सब भी प्रशासनिक अफसरों को नजर नहीं आ रहा।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

गॉड फादर आया, एसएसपी छुट्टी गये, तालाब पर कब्जा शुरू

अवैध खनन बंद करने के दिए जाते हैं सिर्फ निर्देश, धंधा जारी

उत्तर प्रदेश में बदायूं बना खनन माफियाओं की राजधानी

डीएम के संरक्षण के चलते माफिया लूट रहा खनिज संपदा

Leave a Reply