सफल और प्रगतिशील समाज में शिक्षकों की भूमिका महत्वपूर्ण

लखनऊ स्थित संत गाडगे सभागार, गोमती नगर में प्रदेश स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह में अपने विचार व्यक्त करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।
लखनऊ स्थित संत गाडगे सभागार, गोमती नगर में प्रदेश स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह में अपने विचार व्यक्त करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश जैसी बड़ी आबादी वाले राज्य में शिक्षा से जुड़ी चुनौतियों को स्वीकार करते हुए हम सबको मिलकर हल तलाश करने होंगे। तकनीक के क्षेत्र में हो रहे व्यापक परिवर्तन का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि आम छात्रों तक इस तकनीकी बदलाव को पहुंचाने और डिजिटल डिवाइड को पाटने के लिए प्रदेश सरकार ने छात्र-छात्राओं को लैपटाॅप वितरित किए। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा के क्षेत्र में हमें और आगे आना होगा, ताकि हम दुनिया में हो रही प्रगति के साथ-साथ चल सकें।
मुख्यमंत्री आज लखनऊ स्थित संत गाडगे सभागार, गोमती नगर में प्रदेश स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि एक सफल और प्रगतिशील समाज में शिक्षकों की भूमिका महत्वपूर्ण होती है। एक अच्छा शिक्षक ही विकसित देश और समाज का निर्माता होता है। शिक्षकों ने हमेशा समाज और देश को नई दिशा व राह दिखाई है।
श्री यादव ने कहा कि समय के साथ शिक्षा और तकनीक के क्षेत्र में अनेक बदलाव आए हैं। विद्यार्थियों ने इन बदलावों के साथ शिक्षा के क्षेत्र में अपनी पहचान मजबूती के साथ बनाई है। इसके साथ ही, शिक्षकों ने भी अपने आपको तकनीक के स्तर पर अपडेट किया है, जो प्रशंसनीय है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार सभी स्तर की शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए गम्भीरता से कार्य कर रही है। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में और भी गम्भीरता से काम करने की जरूरत है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य को शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी बनाना एक बड़ी चुनौती है। इसके लिए काफी संसाधनों की आवश्यकता है, जिसे राज्य सरकार के साथ-साथ निजी क्षेत्र की संस्थाएं मिल-जुल कर मुहैया करा सकती हैं। श्री यादव ने डाॅ0 के0एल0 गर्ग मेमोरियल ट्रस्ट को शिक्षक सम्मान समारोह आयोजित करने के लिए बधाई देते हुए कहा कि इस प्रकार की संस्थाएं शिक्षा के क्षेत्र में जो कार्य कर रही हैं, वह प्रशंसनीय है।
कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। इस अवसर पर विभिन्न जनपदों से आए प्राचार्यों तथा शिक्षकों को सम्मान स्वरूप अंग वस्त्र, प्रतीक चिन्ह् तथा धनराशि श्री यादव द्वारा प्रदान की गई। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए जी0बी0 पन्त सोशल साइन्स इन्स्टीट्यूट, इलाहाबाद के प्रो0 बद्री नारायण को ‘डाॅ0 के0एल0 गर्ग अवार्ड फाॅर हायर एजूकेशन एण्ड ह्यूमेनिटीज’ प्रदान किया गया। उन्हें पुरस्कार के तहत एक लाख रुपए की धनराशि प्रदान की गई। साथ ही, सम्मानित होने वाले प्रत्येक प्राचार्य को 21 हजार रुपए एवं शिक्षक को 11 हजार रुपए की धनराशि पुरस्कार के रूप में दी गई। लगभग 35 जनपदों से आए प्राचार्यों व शिक्षकों को सम्मानित किया गया।
ट्रस्ट के चेयरमैन एस0के0 गर्ग ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए संस्था द्वारा समाज के विभिन्न क्षेत्रों में किए जा रहे कार्यों की संक्षिप्त जानकारी दी। समारोह में ट्रस्ट की गतिविधियों को लेकर एक लघु फिल्म भी दिखाई गई। वृन्दावन से आयी लोक गायिका वन्दना सिंह के ग्रुप द्वारा मयूर नृत्य नाटिका प्रस्तुत की गई। इस मौके पर एक फोटो प्रदर्शनी भी आयोजित की गई। इस अवसर पर राजनैतिक पेंशन मंत्री राजेन्द्र चौधरी, प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा मनोज कुमार सिंह, निदेशक माध्यमिक शिक्षा अवध नरेश शर्मा सहित शिक्षकगण, गणमान्य नागरिक, ट्रस्ट के पदाधिकारी एवं सदस्यगण मौजूद थे।

Leave a Reply