आजम खां ने कार्यक्रम में भीड़ न आने का कारण बताया नोटबंदी

कार्यक्रम में विचार व्यक्त करते आजम खां।
उत्तर प्रदेश के संसदीय कार्य, नगर विकास एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आजम खाँ ने कहा कि विकास एवं शिक्षा संबंधी कार्यों में दलगत राजनीति से ऊपर उठकर सभी को सहयोग करना चाहिये, क्योंकि विकास और शिक्षा के कार्यों का मुख्य उद्देश्य आम जनता को लाभांवित करना होता है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की यह खू़बी है कि यह सभी को साथ लेकर चलता है, साथ ही उन्होंने भीड़ कम आने पर टिप्पणी की, तो ठहाके गूँज उठे।
आजम खाँ मंगलवार को बिजनौर रेलवे क्रासिंग के पास लखनऊ नगर निगम के जोन- 8 के कार्यालय भवन का शिलान्यास तथा पास में ही बने कल्याण मण्डप का लोकार्पण कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्थल पर अतिक्रमण हटाये जाने के कार्यों में सभी लोगों को दलगत राजनीति एवं निजी स्वार्थ से ऊपर उठकर सहयोग करना चाहिये, न कि उसका विरोध। बुलडोजर के आगे लेट जाने से नगरीय विकास की गति बाधित होती है और साथ ही यातायात संबंधी अव्यवस्थायें जस की तस बनी रहती हैं। कार्यक्रम में मौजूद लोगों की कम संख्या पर उन्होंने चुटकी लेते हुये कहा कि कम भीड़ होना स्वाभाविक है, क्योंकि नोटबंदी के चलते ज्यादातर लोग बैंक और ए.टी.एम. की लाइन में खड़े होने के लिये विवश हैं।
इस अवसर पर प्रदेश के राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उच्च शिक्षा शारदा प्रताप शुक्ला तथा महापौर डॉ. दिनेश शर्मा ने भी अपने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम में नगर विकास सचिव श्रीप्रकाश सिंह, नगर आयुक्त एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। यह भी बता दें कि जोन- 8 का कार्यालय भवन बेसमेंट सहित दो मंज़िला होगा और इसकी निर्माण लागत लगभग 384 लाख रुपये है। लगभग 3274 वर्गमीटर में स्थापित किये जाने वाले इस भवन में दो मंज़िला कुल 16 व्यावसायिक दुकानों का निर्माण किया जायेगा। लगभग 2788 वर्गमीटर में निर्मित कल्याण मण्डप के निर्माण पर कुल
178.35 लाख रुपये की लागत आयी है। यह मण्डप आम जन को आगामी एक जनवरी से बुकिंग पर उपलब्ध होगा।

Leave a Reply