कानून का राज खत्म, फहीम का गला रेता, पांच नामजद

सदर कोतवाल को निर्देश देते एसएसपी सुनील कुमार सक्सेना।
सदर कोतवाल को निर्देश देते एसएसपी सुनील कुमार सक्सेना।

बदायूं जिले का कप्तान कोई हो, कोतवाल कोई हो, अपराधियों पर कोई फर्क नहीं पड़ता। हालात इतने भयावह हो चले हैं कि शहर में कानून की सड़क पर खुलेआम धज्जियां उड़ाते हुए आज फिर हत्या की जघन्य वारदात को अंजाम दे दिया गया। मृतक के घर कोहराम मचा हुआ है। वरिष्ठ अफसरों के साथ एसएसपी सांत्वना देने की औपचारिकता पूर्ण कर रहे हैं।

बदायूं शहर के सदर कोतवाली क्षेत्र में छोटी सरकार के पास आज सुबह करीब आठ मोहल्ला खांडसारी निवासी फहीम उर्फ कल्लू पुत्र कासिम की गला रेत कर दुस्साहसिक अंदाज में हत्या कर दी। हालाँकि फहीम को जिला अस्पताल लाया गया, पर डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। हैरत की बात यह है कि घटना को अंजाम देकर हत्यारे आराम से फरार हो गये, लेकिन पुलिस को भनक तक नहीं लगी। घटना के बाद मृतक के परिवार में कोहराम मच गया।

जिला अस्पताल में मौजूद पुलिस व प्रशासन के अफसर।
जिला अस्पताल में मौजूद पुलिस व प्रशासन के अफसर।

अधीनस्थों के साथ मृतक के घर पहुंचे एसएसपी सुनील कुमार सक्सेना ने हत्यारों को शीघ्र पकड़ने का परिजनों को भरोसा दिलाया, लेकिन परिजनों का अब पुलिस व कानून से भरोसा उठ गया है, क्योंकि मृतक फहीम के भाई नईम उर्फ राजा को 20 अक्टूबर 2015 की सुबह में सड़क पर दौड़ा कर गोलियों से भून दिया था। फहीम भाई के मुकदमे की जोरदार पैरवी कर रहा था। घटना के बाद पांच लोगों के विरुद्ध नामजद मुकदमा दर्ज कराया गया है। पोस्टमार्टम में सिर्फ गला काटने की पुष्टि हुई है। पुलिस अभी तक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

नईम उर्फ राजा पर गोलियों की बौछार, मौत, एक अन्य घायल

Leave a Reply