बदायूं में मेट्रो शहर जैसी हर सुविधा होगी: धर्मेन्द्र यादव

जनता को संबोधित करते सांसद धर्मेन्द्र यादव।
जनता को संबोधित करते सांसद धर्मेन्द्र यादव।
बदायूं लोकसभा क्षेत्र के लोकप्रिय और युवा सांसद धर्मेन्द्र यादव मॉनसून सत्र की व्यस्तता और स्वास्थ्य खराब होने के बावजूद अपने चाहने वालों को निराश नहीं कर पाये। सब कुछ दरकिनार कर दौड़े चले आये और इस्लामियां इंटर कॉलेज के प्रांगण में आयोजित ई-रिक्शा वितरण समारोह में सम्मलित हुए। उन्होंने नगर विकास व संसदीय कार्य मंत्री आजम खान के साथ ई-रिक्शा बांटे, साथ ही 31 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया।
कार्यक्रम में सांसद धर्मेन्द्र यादव ने कहा कि डॉक्टर लोहिया ने सपना देखा था कि इंसान को इंसान न खींचे, यही बात नेता जी कहते रहे हैं, इस सपने को मुख्यमंत्री और आजम खान ने पूरा कर दिया। उन्होंने कहा कि ऐसा कार्य वही कर सकता है, जिसे गरीबों का दर्द महसूस होता हो। बोले- ई-रिक्शा देकर सरकार ने सराहनीय कार्य किया है। उन्होंने कहा कि उनका सपना है कि बरेली-बदायूं फोरलेन की तरह दिल्ली और लखनऊ तक फोरलेन हो। उन्होंने बाईपास और मेडीकल कॉलेज का उल्लेख करते हुए कहा कि भविष्य में ऐसी कोई परियोजना नहीं होगी, जो बड़े शहरों में हो और बदायूं में न हो। सांसद ने राजकीय डिग्री कॉलेज के प्रथम शैक्षिक सत्र के शुभारम्भ पर खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि वर्तमान और पिछली सपा सरकार के कार्यकाल को जोड़कर कुल आठ वर्षों में प्रदेश सरकार द्वारा जिले की तकदीर और तस्वीर बदलने का काम किया गया है। उन्होंने कहा कि इस विकास के कारण ही मोदी लहर बदायूं में आकर दम तोड़ गई थी।
हरी झंडी दिखा कर ई-रिक्शा रवाना करते सांसद धर्मेन्द्र यादव व कैबिनेट मंत्री आजम खान, साथ में खड़े हैं दर्जा राज्यमंत्री आबिद रजा।
हरी झंडी दिखा कर ई-रिक्शा रवाना करते सांसद धर्मेन्द्र यादव व कैबिनेट मंत्री आजम खान, साथ में खड़े हैं आबिद रजा।
इस अवसर पर सांसद धर्मेन्द्र यादव और नगर विकास एवं संसदीय कार्य मंत्री आजम खान ने 299 ई-रिक्शों का वितरण करने के साथ ही राजकीय कन्या डिग्री कॉलेज के प्रथम शैक्षिक सत्र का शुभारम्भ किया और 10.12 करोड़ की लागात से तैयार 31 परियोजनाओं का लोकार्पण व 07.85 करोड़ की 28 परियोजनाओं का शिलान्यास भी किया। डूडा द्वारा संचालित एनयूएलएम योजना के तहत शहरी क्षेत्र में गठित बीस स्वयं सहायता समूहों को प्रति समूह दस हजार रूपए की दर से कुल दो लाख रूपए का रिवाल्विंग फण्ड के रूप में चेकों का वितरण भी किया गया और इसी योजना के तहत शहरी क्षेत्र में निवास करने वाले विभिन्न ट्रेड के 1884 नव-युवक एवं नव-युवतियों को कौशल विकास प्रशिक्षण दिया गया था। रीजनल डायरेक्ट्रेट आफ एप्रेन्टिसशिप ट्रेनिंग कानपुर द्वारा प्राप्त प्रमाण पत्रों का भी सांसद व संसदीय कार्य मंत्री द्वारा वितरण किया गया। इसके अलावा विभिन्न निकायों के 640 लाभार्थियों को ई-रिक्शा वितरण हेतु चयन कर लिया गया।
शोकाकुल परिवार को सांत्वना देते सांसद धर्मेन्द्र यादव।
शोकाकुल परिवार को सांत्वना देते सांसद धर्मेन्द्र यादव।
कार्यक्रम में विधान परिषद सदस्य, प्रदेश के पिछड़ा वर्ग वित्त विकास निगम के अध्यक्ष व दर्जा राज्यमंत्री बनवारी सिंह यादव, सदर विधायक, वक्फ विकास निगम के अध्यक्ष व दर्जा राज्यमंत्री आबिद रजा, नगर पालिका परिषद की अध्यक्ष फात्मा रजा के अलावा प्रदीप कुमार गुडडू, फिरोज खान, अवधेश यादव, विपिन यादव, जिलाधिकारी सीपी त्रिपाठी, एसएसपी सुनील कुमार सक्सेना, सीडीओ प्रताप सिंह भदौरिया सहित अन्य तमाम अधिकारी और जन प्रतिनिधि मौजूद रहे। व्यस्तता के चलते कार्यक्रम के तत्काल बाद सांसद दिल्ली चले गये और रास्ते में मुजरिया थाना क्षेत्र के गाँव रसूला में पहुंच कर पिछले दिनों तालाब में डूब कर मरे चार बच्चों के शोकग्रस्त परिवार से मिले और उन्हें सांत्वना दी।
संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक
सांसद धर्मेन्द्र यादव का भाषण सुनने/देखने के लिए वीडियो पर क्लिक करें

Leave a Reply