समाधान दिवस: डीएम-एसएसपी ने थानों का निरीक्षण किया

समाधान दिवस के दिन शिकायतें सुनते डीएम व एसएसपी

प्रत्येक माह के प्रथम एवं तृतीय शनिवार को सभी थानों में आयोजित होने वाले समाधान दिवसों के क्रम में माह के प्रथम शानिवार को बदायूं के जिलाधिकारी शम्भू नाथ एवं एसएसपी एलआर कुमार ने थाना वजीरगंज, फैज़गंज बेहटा एवं इस्लामनगर पहुंच कर समाधान दिवसों में विवादों के निस्तारण की स्थिति का जायजा लिया। जिलाधिकारी ने कहा कि जो विवाद विभिन्न न्यायालयों में विचाराधीन हैं, उन सभी प्रकरणों में न्यायालयों का फैसला मान्य होगा। एसएसपी ने कहा कि जो विवाद आपसी समझौते के आधार पर भी निस्तारित नहीं हो पा रहे हैं और इन मामलों में झगड़ा होने की सम्भावना है, ऐसे प्रकरणों में दोनों पक्षों के विरूद्ध कार्रवाई कर के मुचलका पाबन्द अवश्य किया जाए। वजीरगंज थाने के थानाध्यक्ष शमशाद अहमद ने बताया कि समाधान दिवस में कुल आठ मामले प्रस्तुत हुए, जिनमें सुरसेना के होरी लाल, पुसगवां के धर्मवीर एवं कंजुआ की मंगू देवी के प्रकरण आपसी समझौते के आधार पर निस्तारित कर दिए हैं। फैजगंज बेहटा के थानाध्यक्ष संग्राम सिंह ने बताया कि उनके थाने में आयोजित समाधान दिवस में कुल सात मामले प्राप्त हुए, जिसमें दो मामलों का मौके पर ही निस्तारण कराया गया और तीन प्रकरणों में लेखपाल, राजस्व निरीक्षक एवं सम्बंधित हलके के एसआई को मौके पर भेजा गया है।

दूसरी ओर विकास भवन स्थित सभा कक्ष में शनिवार को आयोजित विकास कार्यो की मासिक समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी शम्भू नाथ ने सभी अधिकारियों को ताकीद की कि जन समस्याओं एवं विकास कार्यों से सम्बंधित समाचार पत्रों में प्रकाशित होने वाले समाचारों के सम्बन्ध में अवश्य संज्ञान लें और समाचारों के सम्बन्ध में मांगे गए जवाब को निर्धारित अवधि में भिजवाया जाए। जिलाधिकारी ने कहा है कि जिन विभागों द्वारा अभी तक जिला योजना बनाकर उपलब्ध नहीं कराई गई है, वह शीघ्र उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें, जिससे बैठक में जिला योजना का प्रस्ताव अनुमोदित कराने की कार्रवाई पूरी कराई जा सकें। लोहिया ग्रामों की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि वर्ष 2014-15 में चयनित 31 गावों में विकास कार्यों के लिए धनराशि की मांग की जाए। वर्ष 2013-14 में चयनित लोहिया ग्रामों में अभी तक कुछ गावों में शौचालयों के निर्माण, विद्युतीकरण एवं तालाब का जीर्णोंद्धार का कार्य पूरा न होने पर जिलाधिकारी ने तेवर सख्त करते हुए सम्बंधित अधिकारियों को चेतावनी दी है कि अविलम्व अपूर्ण कार्यों को पूरा कराया जाए और यदि धन अभाव के कारण कोई कार्य रूका हुआ है, तो उनकी ओर से पत्र भिजवाकर धनराशि की मांग की जाए। जिलाधिकारी ने किसान क्रेडिट कार्ड बनाने के सम्बन्ध में शिकायतें मिलने का स्पष्टीकरण मांगा तो एडीएम ने कहा कि कुछ शाखा प्रबन्धकों की लापरवाही के कारण कहीं-कहीं समस्याएं उत्पन्न हो रही हैं। जिलाधिकारी ने आगाह किया कि इसे क्षम्य नहीं किया जाएगा। खराब ट्रांसफार्मर बदलने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने जानकारी हासिल की तो विद्युत अभियन्ताओं ने बताया कि खराब ट्रांसफार्मर 72 घण्टे के अन्दर बदल दिए जाते हैं।

Leave a Reply