डीईओ का जिले में तूफानी दौरा, गुंडों के विरुद्ध कार्रवाई करने के दिए निर्देश

अपने सामने प्रचार सामग्री हटवाते डीईओ पवन कुमार और एसएसपी महेंद्र सिंह यादव।

बदायूं जिले में विधान सभा सामान्य निर्वाचन को पूर्ण निष्पक्ष, शान्तिपूर्ण एवं निर्भीक रूप से सम्पन्न कराने के लिए असामाजिक तत्वों के साथ कोई रियायत नहीं बरती जाएगी। धारा- 107/16 की कार्रवाई के साथ मुचलका पाबंद किया जाएगा। शान्ति व्यवस्था में पुनः व्यवधान उत्पन्न करने पर मुचलका राशि जब्त कर ली जाएगी।

गुरुवार को जिला निर्वाचन अधिकारी पवन कुमार एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महेन्द्र यादव ने संयुक्त रूप से जिले का तूफानी दौरा किया, उन्होंने थाना वज़ीरगंज, बिसौली, फैजगंज बेहटा, इस्लामनगर, सहसवान, मुजरिया एवं उझानी का औचक निरीक्षण कर सम्बंधित एसओ द्वारा चुनाव सम्बंधी की जा रही तैयारियों की गहन समीक्षा की। आवश्यक तैयारियाँ अधूरी होने पर असंतोष व्यक्त करते हुए कड़ी नाराज़गी जताई।

कस्बा इस्लामनगर एवं थाने में ही प्रचार सामग्री लगी होने पर दोनों अधिकारियों ने स्वयं खड़े होकर अपने सामने सामग्री उतरवाई। पैदल चलकर मुख्य बाजार का भ्रमण किया। आदेशों के बावजूद भी प्रचार सामग्री लगी हुई पाए जाने पर एसओ इस्लामनगर राजवीर सिंह यादव के प्रति नाराजगी व्यक्त की। डीएम ने सभी एसओ और स्थानीय निकायों के अधिशासी अधिकारियों को हिदायत दी कि किसी भी स्थान पर यदि प्रचार सामग्री लगी पाई जाती है, तो जिम्मेदार अधिकारियों के विरुद्ध दण्डनीय कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

डीएम ने निर्देश दिए कि जिला बदर अपराधी खुलेआम नहीं घूमना चाहिए, इनके सम्बंध में गोपनीय सूचना मिलते ही जेल भिजवाया जाए। उन्होंने कहा सक्रीय, निष्क्रीय हिस्ट्रीशीटर, अपराधियों के सम्बंध में प्रत्येक थाने पर पूर्ण जानकारी उपलब्ध रहे। डीएम, एसएसपी ने शान्ति एवं कानून व्यवस्था की दृष्टि से चिन्हित संवेदनशील गांवों के प्रत्येक व्यक्ति का नाम, पता एवं मोबाइल नंबर थाने में उपलब्ध पंजिका में अनिवार्य रूप से दर्ज किए जाने के निर्देश दिए हैं। दोनों वरिष्ठ अधिकारियों ने थानेवार शस्त्र जमा कराने के सम्बंध में भी जानकारी ली, तो ऐसा कोई भी थाना नहीं पाया गया, जहाँ सभी शस्त्र जमा कराने की कार्रवाई शुरू की गई हो। डीएम ने अति शीघ्र शस्त्र लाइसेंस जमा कराने की प्रक्रिया पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। डीएम ने संवेदनशील तथा अतिसंवेदनशील मतदान केन्द्रों के सम्बंध में भी थानाध्यक्षों से जानकारी ली।

जिले के दौरे के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी पवन कुमार ने निर्वाचन की विभिन्न व्यवस्थाओं, कार्यों को सम्पादित करने के लिए निर्देशित किया कि प्रभारी तथा सहायक प्रभारी अधिकारी अपने-अपने दायित्वों को अंजाम देने के लिए पूर्ण तत्परता से कार्य करें। कलेक्ट्रेट स्थित सभाकक्ष में जिलाधिकारी ने सीडीओ अच्छे लाल सिंह यादव सहित सभी प्रभारी अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए अब तक चुनाव सम्बंधी की गई तैयारियों की गहन समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि निर्वाचन सम्बंधी कार्य अत्यन्त महत्वपूर्ण, समयबद्ध एवं संवेदनशील होते हैं, इसलिए इन कार्यां को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण किया जाए, क्योंकि चुनाव कार्यां में माफी की कोई गुंजाइश नहीं होती।

बैठक में जिला रोजगार सहायता अधिकारी के अनुपस्थित रहने पर डीएम ने कड़ी नाराज़गी व्यक्त करते हुए जवाब-तलब कर वेतन आहरण पर रोक लगाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कंट्रोल रूम में अधिकारियों,  कर्मचारियों की दिन और रात दोनों पालियों में ड्यूटी लगाई जाए, ऐसा न हो कि किसी अधिकारी, कर्मचारी की रात में ड्यूटी लगे और वही अन्त तक रात में ही ड्यूटी करता रहे। उन्होंने निर्देश दिए कि चुनाव ड्यूटी के लिए ट्रक का इस्तेमाल कम ही किया जाए, तो बेहतर होगा। एआरटीओ ने अवगत कराया कि प्रत्येक विधानसभा में 70-75 भारी बाहनों की आवश्यकता होगी।

डीएम ने निर्देश दिए कि प्रभारी अधिकारी जो भी कार्य कराएं, उसकी वीडियो एवं फोटो ग्राफी अवश्य कराई जाए। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व हवलदार यादव एवं अपर जिलाधिकारी प्रशासन अजय कुमार श्रीवास्तव ने सम्बंधित अधिकारियों से कहा कि प्रेक्षकगणों के जनपद में आने पर सभी व्यवस्थाएं पहले से पूर्ण कर ली जाएं। इस अवसर पर जिला सूचना विज्ञान अधिकारी राजेश शर्मा सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी मौजूद रहे।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

आचार संहिता लगते ही पुलिस-प्रशासन ने मचाई धूम, प्रचार सामग्री हटवाई

बीस हजार से ऊपर का खर्च चेक से ही कर सकेंगे प्रत्याशी, पेड न्यूज पर रहेगी नजर

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

Leave a Reply