दलित किशोरी को पुनः अगवा करने का प्रयास, विधायक है आरोपी

पीड़ित दलित किशोरी
पीड़ित दलित किशोरी

दुस्साहस ही कहा जायेगा कि जिस व्यक्ति पर किशोरी को बंधक बना कर यौन उत्पीड़न करने का आरोप है, उसी व्यक्ति ने रात फिर उसी किशोरी को अगवा करने का प्रयास किया। पुलिस ने एक बार फिर मुकदमा लिख कर कार्रवाई करने की जगह तहरीर लेकर पीड़ित लड़की और उसके पिता को थाने से टरका दिया।

दुस्साहसिक वारदात बदायूं जिले के इस्लामनगर थाना क्षेत्र में स्थित कस्बा नूरपुर पिनौनी की है। यहाँ बता दें कि नूरपुर पिनौनी निवासी जाटव परिवार की एक नाबालिग लड़की को गांव में ही किराये पर रह रहा विदलेश यादव उर्फ प्रवेश यादव निवासी रामपुर खादर थाना रजपुरा जिला संभल किसी तरह 23 अप्रैल को ले गया था। पहले से ही विवाहित और तीन बच्चों के पिता प्रवेश यादव के बारे में बताया जाता है कि वह नाबालिग लड़कियों को किसी तरह भगा ले जाता है और फिर उन्हें बेच देता हैं। पीड़ित दलित दंपत्ति ने भी अपनी बेटी के बारे में ऐसी ही आशंका जताते हुए लड़की को बरामद कराने की गुहार लगाई थी और जिला मुख्यालय पर धरना दिया था, पर पुलिस ने कार्रवाई की गति तेज नहीं की, इस बीच कटरा सआदतगंज की घटना को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती आईं, तो पीड़ित दंपत्ति मायावती से मिला, जिसके बाद पुलिस हरकत में तो आई, लेकिन प्रेम प्रसंग बता कर पूरे मामले को दबा दिया। किशोरी ने मीडिया के समक्ष सपा विधायक राम खिलाड़ी सिंह यादव की संलिप्तता उजागर की, तो किशोरी सहित पूरे परिवार का पुलिस ने शोषण भी किया।

उक्त प्रकरण न्यायालय में विचाराधीन है, इसके बावजूद मुख्य आरोपी बीती रात गाड़ी से नूरपुर पिनौनी पहुंच गया और रामलीला में बैठा रहा। उसने रामलीला में पांच सौ रूपये भी दिए और बाद में पीड़ित के घर तक पहुंच गया, जहां से किशोरी को जबरन उठा ले जाने का प्रयास भी किया। किशोरी उससे भिड़ गई, जिससे उसकी जेब फट गई। जेब में रखे कुछ कागज जमीन पर गिर गये। शोर सुन कर मोहल्ले के लोग आ गये, तो आरोपी साथियों सहित भाग गया।

किशोरी के पिता ने बताया कि उसकी बेटी को उठाने की धमकी लगातार दी जा रही थी, जिसके बारे में पुलिस को बता दिया था, लेकिन पुलिस ने कुछ नहीं किया। पुलिस की मदद न मिलने के कारण किशोरी को उसने एक रिश्तेदार के घर भेज दिया था। पिछले दिनों ही वापस लाया है और रात ही बदमाश आ गये। पीड़ित ने बताया कि वह बेटी के साथ थाने गया, तो पुलिस ने तहरीर लेकर घर वापस जाने को कह दिया। पीड़ित ने बताया कि पुलिस ने कोई ठोस कार्रवाई नहीं की, तो वह परिवार सहित पलायन कर जायेगा। उसने यह भी आरोप लगाया कि उसका शोषण विधायक रामखिलाड़ी सिंह यादव के इशारे पर किया जा रहा है।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

दलित किशोरी बरामद, सपा विधायक की कोठी में रही बंधक

दलित किशोरी यौन उत्पीड़न प्रकरण में रिवीजन मंजूर

किशोरी ने पहली बार मीडिया के सामने सुनाई पूरी कहानी

Leave a Reply