पेड़ पर लटकी मिली दलित किशोरी की हुई थी हत्या

  • उझानी कोतवाली क्षेत्र में युवक चाकू से गोदा
  • हजरतपुर थाना क्षेत्र में युवक ने की आत्म हत्या
गाँव चिचैटा में दलित किशोरी की घटना से संबंधित जाँच करने पहुंचे एसएसपी सौमित्र यादव।
गाँव चिचैटा में दलित किशोरी की घटना से संबंधित जाँच करने पहुंचे एसएसपी सौमित्र यादव।

बदायूं जिले में कानून व्यवस्था में कोई सुधार नहीं हो पा रहा है। पेड़ पर लटकी मिली दलित किशोरी के मामले में हत्या की पुष्टि हुई है, वहीं उझानी कोतवाली क्षेत्र में एक युवक को चाकु से गोद दिया, साथ ही थाना हजरतपुर क्षेत्र में एक युवक ने आत्म हत्या कर ली।

इस्लामनगर थाना क्षेत्र के गाँव चिचैटा निवासी रामौतार वाल्मीकि की 14 वर्षीय बेटी लक्ष्मी गुरुवार को दोपहर लगभग तीन बजे जंगल में घास छीलने गई थी। शाम तक जब वह घर नहीं लौटी, तो परिजन उसे खोजने निकले। जंगल में एक बबूल के पेड़ पर उसकी लाश टंगी देख कर परिजनों के होश उड़ गये।

घटना की सूचना पर पुलिस विभाग में भी हड़कंप मच गया। माना जा रहा था कि किशोरी ने स्वयं फांसी लगाई है, लेकिन आज पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद खुलासा हुआ कि लक्ष्मी के माथे आदि में गहरी चोटें हैं, जिससे यह सिद्ध होता है कि लक्ष्मी को पीटने के बाद जबरन पेड़ पर लटकाया गया है।

उक्त प्रकरण में परिजन कुछ कहने को तैयार नहीं हैं, साथ ही परिजन कार्रवाई करने से भी बच रहे हैं, लेकिन सवाल उठता है कि लक्ष्मी की हत्या अगर परिजनों ने ही की होगी, तो वे कार्रवाई करना क्यूं चाहेंगे?, ऐसे में घटना की विस्तृत विवेचना होना अति आवश्यक है, पर पुलिस भी पूरे मामले को दबाने के प्रयास में जुटी नजर आ रही है। यहाँ यह भी बता दें कि बदायूं के गाँव कटरा सआदतगंज में दो चचेरी बहनों को मार कर पेड़ पर लटका दिया गया था, इस घटना की सीबीआई जांच हुई, तो परिजन ही दोषी पाये गये।

दूसरी घटना उझानी कोतवाली क्षेत्र के गाँव सेहरा की है। यहाँ एक दावत में विवाद होने पर बीती रात 30 वर्षीय युवक नन्हें प्रजापति को चाकू से गोद दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। हत्या के चलते परिवार में कोहराम मचा हुआ है एवं गाँव में भी दहशत का माहौल है।

तीसरी घटना हजरतपुर थाना क्षेत्र के गाँव ग्योति की है, जहां सोमपाल (35) पुत्र कालीचरण ने आत्म हत्या कर ली। आत्म हत्या करने का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। परिवार में कोहराम मचा हुआ है।

Leave a Reply