बदायूं में व्यवस्था चौपट, हाहाकार मचा, मुख्य सचिव के टेस्ट में डीएम फेल

मुख्य सचिव राजीव कुमार और बदायूं की डीएम अनीता श्रीवास्तव।

बदायूं में प्रशासनिक व्यवस्था पूरी तरह चौपट हो गई है। कलेक्ट्रेट और विकास भवन में बाबूराज पूरी तरह से कायम हो गया है। भ्रष्टाचार और अधिक बढ़ गया है, जिससे आम जनता त्राहि-त्राहि कर रही है।

मुख्यमंत्री बनते ही आदित्यनाथ योगी ने अफसरों को कार्यालय में सुबह 9 बजे बैठने के निर्देश दिए थे, इस निर्देश का पालन बदायूं में तब तक हुआ, जब तक सपा द्वारा तैनात किये गये अफसर ही तैनात रहे, उनका तबादला होते ही व्यवस्था पूरी तरह चौपट हो गई। पूर्व सरकार के कार्यकाल से तैनात चले आ रहे अफसर नये मुख्यमंत्री से डरे हुए थे, तभी निर्देशों का अक्षरशः पालन कर रहे थे, पर आदित्यनाथ योगी द्वारा तैनात किये गये अफसर उनके ही निर्देशों को नहीं मान रहे। कलेक्ट्रेट परिसर में डीएम अनीता श्रीवास्तव स्वयं कभी नौ बजे नहीं बैठतीं, तो वे किसी और से नौ बजे बैठने को कैसे कह सकती हैं। एडीएम (प्रशासन) अशोक श्रीवास्तव जिले के सर्वाधिक बदनाम असफरों में शामिल हो गये हैं, वे पहले यहीं सिटी मजिस्ट्रेट थे और फिर प्रमोशन के बाद एडीएम (प्रशासन) बना दिए गये, उन पर जातिवाद का आरोप तो अब खुलेआम लगने लगा है, वे अपनी जाति वाले बाबुओं को खोज-खोज कर मलाईदार पद देते हैं। टीआरए अविनाश सक्सेना को लेकर उनकी जमकर फजीहत हो रही है, फिर भी नहीं हटा रहे, इसीलिए व्यवस्था चौपट हो गई है।

विकास भवन का भी यही है, यहाँ तैनात सीडीओ कभी 11 बजे से पहले कार्यालय नहीं पहुंचते। तबादलों को लेकर विकास भवन दलालों का बड़ा अड्डा बन कर उभर रहा है। दलाल से बात करते ही कोई भी कर्मचारी कहीं भी तैनाती पा रहा है, इस तरह की घटनायें खुलेआम होने से आम जनता की नजर में सरकार की जमकर फजीहत होने लगी है। हालाँकि 17 जुलाई को मुख्य सचिव राजीव कुमार द्वारा लिए गये टेस्ट में डीएम अनीता श्रीवास्तव फेल हो चुकी हैं, जिस पर मुख्य सचिव ने निर्देशों का पुनः संज्ञान कराया है, लेकिन बदायूं की चौपट व्यवस्था इतने भर से अब नहीं सुधरने वाली, यहाँ तेजतर्रार आईएएस अफसर को ही तैनात करना पड़ेगा, वरना निरंतर गर्त में जा रहा बदायूं जिला और तेजी से चला जायेगा।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

Leave a Reply