मुख्यमंत्री ने किया औचक निरीक्षण, चौपाल भी लगाई

जनपद झांसी के डा. राम मनोहर लोहिया समग्र ग्राम खड़ौरा में ग्रामीणों से बात करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।
जनपद झांसी के डा. राम मनोहर लोहिया समग्र ग्राम खड़ौरा में ग्रामीणों से बात करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को जनपद झांसी के डा. राम मनोहर लोहिया समग्र ग्राम खड़ौरा का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने सम्पर्क मार्ग की खराब दशा पर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी को इस मार्ग की विशेष मरम्मत के भी निर्देश दिए हैं। इसके उपरान्त वे जिलाधिकारी द्वारा चयनित ग्रामों में न जाकर अन्य गांवों में गए। ग्रामवासी अपने बीच मुख्यमंत्री को पाकर अभिभूत थे, क्योंकि वर्षाें से किसी भी मुख्यमंत्री ने इस क्षेत्र का दौरा इस उद्देश्य से नहीं किया था।
मुख्यमंत्री ने झांसी जनपद में कम संख्या में लोहिया आवासों के निर्माण पर भी नाराजगी जताते हुए प्रमुख सचिव ग्राम विकास को निर्देश दिए कि झांसी जनपद का पुनः सर्वे कराकर पात्र लोगों का पता लगाया जाए तथा उन्हें लोहिया आवास उपलब्ध कराए जाएं। उन्होंने लोहिया समग्र ग्रामों के लिए निर्धारित मानकों का कड़ाई से पालन करने के लिए अधिकारियों को सचेत करते हुए कहा कि इसमें किसी भी तरह की ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
इसके उपरान्त मुख्यमंत्री ने लोहिया समग्र ग्राम खड़ौरा में चौपाल लगाकर गांव में संचालित सभी विकास योजनाओं की जानकारी प्राप्त की। इस मौके पर उन्होंने ग्राम खड़ौरा में हाईस्कूल के निर्माण की भी घोषणा की। इसके लिए उन्होंने जिलाधिकारी को प्रस्ताव बनाकर शीघ्र प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लोहिया ग्रामों में संचालित योजनाओं पर बारीकी से नजर रखी जा रही है। ग्रामों की तस्वीर बदलने हेतु हर सम्भव प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि ग्राम खड़ौरा को सभी बुनियादी सुविधाओं से लैस किया जाएगा। गांवों में पानी व बिजली की बेहतर व्यवस्था की जाएगी।
श्री यादव ने चौपाल के दौरान उपस्थित गांववासियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि बुन्देलखण्ड क्षेत्र में सोलर पैनल को बढ़ावा दिया जाएगा, ताकि बिजली की व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त हो और लोगों को पानी की और बेहतर सुविधा प्राप्त हो सके। उन्होंने लोगों को आश्वस्त करते हुए कहा कि गांवों का तीव्रता से विकास किया जाएगा। लोहिया ग्रामों के चयन में अपनाई गई व्यवस्था में और सुधार किया जाएगा, ताकि अधिक से अधिक गरीब व्यक्तियों को लोहिया ग्रामों में चयनित करते हुए लाभान्वित किया जा सके। उन्होंने कहा कि घसान नदी पर बांध के निर्माण के लिए स्थान चिन्हित करने के उपरान्त बजट की समुचित व्यवस्था की जाएगी। बांध के निर्माण के बाद आस-पास के गांवों में पानी की बेहतर व्यवस्था उपलब्ध हो सकेगी।
प्रदेश सरकार द्वारा जनहित में उठाए गए कदमों पर प्रकाश डालते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने गरीब व्यक्तियों के समुचित इलाज के लिए ‘102’ एवं ‘108’ एम्बुलेंस सेवा की व्यवस्था की है। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड की सड़कों की मरम्मत व उनके उचित रख-रखाव हेतु तेजी से प्रयास किए जाएंगे।
इस मौके पर जिलाधिकारी अनुराग यादव ने खड़ौरा ग्राम में चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की प्रगति की जानकारी मुख्यमंत्री के समक्ष प्रस्तुत की। उन्होंने अवगत कराया कि गांव में 83 इन्दिरा आवास बने हैं तथा गांव में स्थापित 13 सोलर लाइटें ठीक करा दी गई हैं। गांव का विद्युतीकरण किया जा चुका है। इसके अतिरिक्त 210 लोगों को वृद्धावस्था पेंशन, 22 को विधवा पेंशन तथा 17 को विकलांग पेंशन उपलब्ध कराई जा रही है। मनरेगा के अन्तर्गत मजदूरी करने वाले लोगों को उनकी मजदूरी दे दी गई है। बकरी पालन आदि के लिए 21 लोगों को ऋण उपलब्ध कराया जा चुका है। उन्होंने लैपटाॅप, शौचालय, सी.सी. रोड, तालाब, समाजवादी पेंशन योजना, राशन, ड्रेस वितरण, मिड-डे मील, सरकारी नलकूप आदि योजनाओं की जानकारी मुख्यमंत्री को दी। चौपाल के दौरान गांववासियों ने मुख्यमंत्री को अपने-अपने प्रार्थना-पत्र सौंपे, जिनके शीघ्र निराकरण का आश्वासन उन्होंने दिया। इस अवसर पर स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply