सांसद ने छात्राओं को चेक बांटे और एंबुलेंस को दिखाई हरी झंडी

समारोह में उपस्थित लोगों को संबोधित करते सांसद धर्मेन्द्र यादव।
समारोह में उपस्थित लोगों को संबोधित करते सांसद धर्मेन्द्र यादव।
बदायूं लोकसभा क्षेत्र के लोकप्रिय सांसद धर्मेन्द्र यादव सहित जिले के अन्य कई जनप्रतिनिधियों ने इस्लामियां इण्टर कॉलेज में आयोजित समारोह में रविवार को 230 मेधावी छात्राओं को कन्या विद्या धन के चेक वितरित किए। चालू वित्तीय वर्ष में जनपद में अब तक कुल 606 मेधावी छात्राओं को कन्या विद्या धन योजना के तहत एक करोड़ 81 लाख 80 हजार रूपए के चेक वितरित किए जा चुके हैं।
समारोह के मुख्य अतिथि सांसद धर्मेन्द्र यादव ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। स्वागत की औपचारिकता के बाद सांसद ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि कन्या विद्या धन न केवल उच्च शिक्षा प्राप्त करने में कारगर सिद्ध हुआ है, बल्कि गरीब परिवारों की अन्य जरूरतों को पूरा करने में भी काफी मदद मिलती है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा जब से यह योजना शुरू की गई है, तब से लड़कों की अपेक्षा लड़कियों द्वारा उच्च शिक्षा ग्रहण करने में 52 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। सांसद ने कहा कि हिन्दुस्तान के किसी दूसरे राज्यों में मेधावी छात्राओं के लिए इस प्रकार की योजना नहीं चल रही है। उन्होंने बाईपास, ओवर ब्रिज, मेडीकल कॉलेज, बरेली-बदायूं फोर लाइन रोड, समाजवादी पेंशन योजना तथा अन्य विकास कार्यों का जिक्र करते हुए कहा कि शीघ्र ही प्रदेश सरकार द्वारा लखनऊ मैट्रो चलाने की भी तैयारी की जा रही है। उन्होंने देरी से पहुंचने के कारण छात्राओं को हुई असुविधा पर अफसोस व्यक्त करते हुए कहा कि बच्चों उन्हें माफ कर देना। उन्होंने केंद्र सरकार पर प्रहार किये।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे पिछड़ा वर्ग वित्त विकास निगम के अध्यक्ष, दर्जा राज्यमंत्री बनवारी सिंह यादव ने कहा कि कन्या विद्या धन पाकर कन्याओं के चेहरे पर मुस्कान से यह स्पष्ट है कि सरकार द्वारा चलाई गई इस योजना से वह खुश हैं और उनकी खुशी से परिवार भी खुश होगा। सरकार का भी यही उद्देश्य है कि प्रदेश में खुशहाली रहे, इसलिए कहा भी जाता है कि बन रहा है आज और संवर रहा है कल। सर्वे के आधार पर विकास कार्य कराने में भारत में बदायूं के सांसद धर्मेन्द्र यादव का नाम चौथे स्थान पर होने पर वक्फ विकास निगम के अध्यक्ष, दर्जा राज्यमंत्री आबिद रजा ने खुशी का इजहार करते हुए कहा कि वर्तमान में महिलाएं बहुत तरक्की कर रही हैं और सरकार द्वारा इसी को दृष्टिगत रखते हुए लड़कियों की तरक्की के लिए कन्या विद्या धन योजना शुरू की है। उन्होंने कहा कि गरीब मां-बाप अपनी आर्थिक स्थिति के कारण अपनी बच्चियों को उच्च शिक्षा नहीं दिला पाते थे, ऐसे परिवारों की बेटियों को पढ़ाने की जिम्मेदारी प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ले ली है। उन्होंने प्रदेश सरकार की लैपटॉप वितरण योजना का जिक्र करते हुए कहा इससे भी तमाम छात्र-छात्राओं ने बहुत लाभ उठाया। यासीन उस्मानी, शेखूपुर विधान सभा क्षेत्र के विधायक आशीष यादव तथा डीसीबी के चेयरमैन बृजेश यादव ने प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की चर्चा करते हुए कहा कि सरकार द्वारा न केवल छात्र-छात्राओं, बल्कि सरकार द्वारा बेरोजगरों को बेरोजगारी भत्ता और मजदूरों को साइकिलों सहित विभिन्न योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा गरीबों को घर और खर्च के लिए पेंशन भी उपलब्ध कराई जा रही है। इस अवसर पर बिसौली के विधायक आशुतोष मौर्य, दातागंज के पूर्व विधायक प्रेमपाल सिंह यादव, रामखिलाड़ी सिंह यादव, हरप्रसाद सिंह पटेल, बलवीर सिंह यादव सहित अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद रहे। अन्त में मुख्य विकास अधिकारी/प्रभारी जिलाधिकारी प्रताप सिंह भदौरिया ने सभी का आभार व्यक्त किया और जिला विद्यालय निरीक्षक बीना यादव ने कन्या विद्याधन योजना पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) अशोक कुमार श्रीवास्तव, एसपी (सिटी) अनिल कुमार यादव, नगर मजिट्रेट अजय कुमार श्रीवास्तव, एसडीएम (सदर) प्रदीप कुमार यादव, बीएसए आनन्द प्रकाश शर्मा सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।
कन्या विद्या धन योजना पर एक नजर
प्रदेश सरकार द्वारा चालू वित्तीय वर्ष में कुल- 606 मेधावी छात्राओं को प्रति कन्या तीस हजार रूपए वितरण का लक्ष्य प्राप्त हुआ था, जिसके सापेक्ष 376 मेधावी कन्याओं को ई-पेमेन्ट द्वारा एक करोड़ 12 लाख  80 हजार का भुगतान कर दिया गया, शेष 230 कन्याओं को समारोह में 69 लाख रूपए के चेकों का वितरण किया गया। जनपद में 606 छात्राओं को कुल एक करोड़ 81 लाख 80 हजार रूपए वितरित किए जा चुके हैं।
राजकीय कन्या डिग्री कॉलेज में जुलाई से शुरू होंगे एडमीशन
स्थानीय कोतवाली के निकट नव-निर्मित राजकीय कन्या डिग्री कॉलेज तथा नाधा स्थित डिग्री कॉलेज में आगामी माह जुलाई से एडमीशन शुरू हो जाएंगे और यदि स्वीकृति मिल गई, तो जुलाई से ही राजकीय मेडीकल कॉलेज में भी एमबीबीएस की कक्षाएं शुरू हो जायेंगी।
रविवार को इस्लामियां इण्टर कॉलेज के प्रांगण में आयोजित कन्या विद्या धन वितरण समारोह में सांसद धर्मेन्द्र यादव ने उक्त घोषणायें करते हुए कहा कि उनका प्रयास है कि नार्मल स्कूल की जगह पर बनाये गये राजकीय कन्या डिग्री कॉलेज और सहसवान तहसील स्थित नाधा के डिग्री कॉलेज में आगामी माह जुलाई से प्रवेश शुरू हो जायें। उन्होंने कहा कि राजकीय मेडीकल कॉलेज की ओपीडी में प्रतिदिन लगभग नौ सौ मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं और जिस दिन मेडीकल कॉलेज का चिकित्सालय तथा इमरजेंसी शुरू हो गई, तो इससे न सिर्फ बदायूं, बल्कि पूरे बरेली मण्डल सहित आसपास के अन्य जिलों को भी इसका लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि उनका प्रयास है कि आगामी माह जुलाई से एमबीबीएस की कक्षायें भी शुरू हो जायें।
समाजवादी सचल पशु चिकित्सा एम्बुलेंस को दिखाई हरी झण्डी
जनपद में बेहतर पशु चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध कराने हेतु सांसद धर्मेन्द्र यादव ने समाजवादी सचल पशु चिकित्सा सेवा एम्बुलेंस को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। बता दें कि पशुपालकों की सुविधा हेतु सांसद द्वारा अपनी निधि से आठ लाख रूपए देकर जनपद के लिए एक समाजवादी सचल पशु चिकित्सा सेवा एम्बुलेंस उपलब्ध कराई है, जो जानवरों की महामारी, टीकारण और अन्य चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध कराने में कारगर सिद्ध होगी। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. ए.के. जादौन ने बताया है कि प्रदेश में बदायूं मात्र एक ऐसा जिला है, जहां सांसद निधि से यह एम्बुलेंस उपलब्ध हुई है, अन्य किसी जिले में यह सेवा उपलब्ध नहीं है। इसके बाद सांसद और अन्य जनप्रतिनिधियों ने इस्लामियां कॉलेज में स्कूली बच्चों द्वारा लगाई गई विज्ञान प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया।
संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

Leave a Reply