पालिका द्वारा दुकान से कब्जा हटाने पर परिवार ने किया आत्मदाह का प्रयास

बदायूं जिले के थाना अलापुर क्षेत्र में स्थित कस्बा ककराला और पुलिस विभाग में किराना व्यापारी पंकज गुप्ता द्वारा परिवार सहित आत्म दाह करने का प्रयास करने पर हड़कंप मच गया। आनन-फानन में मौके पर पहुंची पुलिस ने 6 लोगों को हिरासत में ले लिया है।

बताया जाता है कि ककराला निवासी दिनेश गुप्ता और भाजपा नेता सुरजीत गुप्ता के नाम नगर पालिका ने दो दुकानों का आवंटन किया था। भाजपा नेता सुरजीत गुप्ता ने अपनी दुकानों को पंकज गुप्ता को बेच दिया था। पंकज ही दुकानों पर लंबे समय से काबिज था। नगर पालिका ने आवंटन निरस्त कर दुकानों को खाली कराने की कार्रवाई शुरू की, तो पंकज ने विरोध किया और आज पूरे परिवार के साथ खुद पर केरोसिन डाल कर सामूहिक आत्मदाह करने का प्रयास करने लगा। सूचना पर पहुंची पुलिस ने 6 लोगों को हिरासत में लेकर विवादित दुकानों को सील कर दिया है। दातागंज क्षेत्र के सीओ प्रकाश कुमार का कहना है कि प्रकरण की जांच की जा रही है, जिसके बाद कार्रवाई की जायेगी।

घटना कस्बा ककराला के साथ समूचे इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है नियमों की बात की जाये, तो पालिका द्वारा दी गई दुकान को बेचने वाला भी दोषी है असलियत में ऐसी संपत्ति सेटिंग से ही मिलती है पंकज जैसे कमजोर तबके के जरूरतमंद लोगों को नहीं मिलती जिसे जरूरत नहीं थी, उसे पालिका ने दुकान दे दी और जिसे जरूरत है, उससे खाली कराई जा रही है, जबकि जिस परिवार की जीविका का साधन है दुकान, उसे पालिका आवंटित कर सकती है, पर स्थानीय राजनीति के चलते पंकज को बेदखल किया जा रहा था, जिस पर पूरा परिवार लामबंद हो गया

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

विवादित दुकान के सामने खड़े परिवार को समझाता सब-इंस्पेक्टर।

Leave a Reply