दबंग यादवों ने लगाई आग, तीन पशुओं की मौत, पुलिस ने पीड़ित को ही गरियाया

घटना स्थल पर पड़े जानवरों के शव।

बदायूं जिले में कानून का राज समाप्त होता जा रहा है। यौन शोषण, लूट और डकैती जैसी वारदातें होने लगी हैं, वहीं दबंग यादवों ने मीना जाति के एक व्यक्ति के घर में आग लगा दी, जिससे दो भैंसें और एक बच्चा मौके पर ही जलने से मर गये। घटना के समय फोन करने पर भी पुलिस नहीं पहुंची, साथ ही तहरीर देने कोतवाली गये बुजुर्ग को गालियाँ देकर उल्टा भगा दिया।

दिल दहला देने वाली वारदात बदायूं जिले में स्थित बिसौली कोतवाली क्षेत्र के गाँव करखेरी की है। कुंवर पाल मीना का आरोप है कि शनिवार की रात में वह अलाव पर बैठा था, तभी करीब रात नौ बजे गाँव के ही दबंग धीरेन्द्र यादव, जयवीर यादव, मुकेश यादव के नेतृत्व में कई सशस्त्र लोग आ धमके और गालियाँ देते हुए उसकी कनपटी से बंदूक सटा कर जान से मारने की धमकी देने लगे।

कुंवर पाल का आरोप है कि वह कुछ समझ पाता, तब तक दबंगों ने उसके घर में आग लगा दी। आग की लपटें उठने पर मोहल्ले के लोग जमा होने लगे, तो दबंग भाग गये। मोहल्ले के लोगों ने मिल कर आग बुझाने का प्रयास किया, लेकिन दो भैंस और एक बच्चा बंधे होने के कारण जल गये और फिर दम घुटने से मर गये, साथ ही हजारों रूपये कीमत का अन्य सामान भी आग में स्वाह हो गया।

पीड़ित का आरोप है कि घटना के समय ही पुलिस को फोन किया, लेकिन पुलिस नहीं आई। पीड़ित कोतवाली में तहरीर देने गया, तो उसे न सिर्फ गालियाँ दी गईं, बल्कि पुलिस ने यह कह कर भगा दिया कि स्वयं आग लगा कर झूठा मुकदमा दर्ज कराने आये हो, इसलिए उल्टा मुकदमा लिख कर जेल भेज दिए जाओगे। पीड़ित ने पुलिस के वरिष्ठ अफसरों से न्याय दिलाने की गुहार लगाई है। घटना को लेकर परिवार में कोहराम मचा हुआ है, साथ ही घटना क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

घटना के बाद का दृश्य देखने के लिए वीडियो पर क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.