मार्गों के किनारे खुली शराब की दुकानों को चिन्हित करें: डीएम

बदायूं में कलेक्ट्रेट स्थित सभाकक्ष में सोेमवार को बैठक लेते जिलाधिकारी शम्भूनाथ।
बदायूं में कलेक्ट्रेट स्थित सभाकक्ष में सोेमवार को बैठक लेते जिलाधिकारी शम्भूनाथ।
बदायूं में हिट एण्ड रन श्रेणी की दुर्घटनाओं में अज्ञात वाहनों की टक्कर से मरने वालों के आश्रितों को आर्थिक सहायता प्राथमिकता के आधार पर उपलब्ध कराई जाए। हिट एण्ड रन प्रकरणों से सम्बंधित टीएसआई, एसपी ट्रैफिक से प्राप्त कर के मृतकों के आश्रितों से प्राप्त सूचना के आधार पर निर्धारित प्रपत्र को भरवाकर आश्रितों को आर्थिक सहायता देना सुनिश्चित करें।
कलेक्ट्रेट स्थित सभाकक्ष में सोेमवार को परिवहन निगम एवं परिवहन विभाग से सम्बंधित आयोजित बैठक में जिलाधिकारी शम्भूनाथ ने समस्त उप जिलाधिकारियों, पुलिस विभाग के अधिकारियों एवं परिवहन निगम, परिवहन विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि अज्ञात वाहनों की टक्कर से हिट एण्ड रन श्रेणी की दुर्घटनाओं में मृतक आश्रितों को आवश्यक कार्यवाही पूर्ण करते हुए उन्हें आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने में किसी भी प्रकार का विलम्ब नहीं किया जाए। उन्होंने कहा कि राज्य सड़क परिवहन की बसों से दुर्घटना की स्थिति में परिवहन विभाग द्वारा मृतकों के आश्रितों को 40 हजार रूपए की आर्थिक सहायता भी दिए जाने का प्रावधान है।
जिलाधिकारी ने राष्ट्रीयकृत मार्गों पर अनाधिकृत निजी वाहन अवैध रूप से चलाए जाने पर तत्काल प्रतिबंध लगाने के निर्देश देते हुए कहा कि राष्ट्रीयकृत मार्गों पर अवैध रूप से वाहनों का संचालन बंद किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि राष्ट्रीयकृत मार्गों पर स्थित स्कूलों, कालेजों का चिन्हीकरण कराया जाए। स्कूल खुलने के समय अथवा छुट्टी के समय स्कूली बच्चों के रोड पर आने की स्थिति में स्कूल के किसी भी अध्यापक को जिम्मेदार बनाते हुए सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए और आवश्यकता पड़ने पर गति अवरोधक बनाने की कार्रवाई भी सुनिश्चित की जाए। जिलाधिकारी राष्ट्रीय राज्य मार्गो, जिले के प्रमुख मार्गों एवं अन्य जिला स्तरीय मार्गों पर 100 मीटर की दूरी दोनों ओर में स्थित शराब की दुकानों का चिन्हीकरण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जनपद में डग्गामार वाहनों पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया जाए और किसी भी दशा में सवारी लटकाकर वाहन चलाने वालों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जाए। बैठक में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व राजेन्द्र प्रसाद यादव, नगर मजिस्ट्रेट विजय बहादुर, एआरटीओ उदय वीर सिंह, एआरएम जेपी सिंह, सीओ सिटी, सीओ उझानी सहित सभी उप जिलाधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply