चक्रवात में नाव फंसने से 15 डूबे, डीएम-एसएसपी ने किया दौरा

  • मृतक आश्रितों को चार-चार लाख रूपये आर्थिक सहायता देने की घोषणा
मृतक आश्रितों के बीच मौजूद डीएम शंभूनाथ, एसएसपी सौमित्र यादव व एसपी (ग्रामीण) बालेंदु भूषण सिंह।
मृतक आश्रितों के बीच मौजूद डीएम शंभूनाथ, एसएसपी सौमित्र यादव व एसपी (ग्रामीण) बालेंदु भूषण सिंह।
बदायूं जिले के सहसवान तहसील क्षेत्र में स्थित ग्राम नगला वरन में शनिवार को नाव डूबने से चार लोगों की घटना स्थल पर मृत्यु हो गई। जिलाधिकारी शम्भूनाथ, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सौमित्र यादव तथा उप जिलाधिकारी सहसवान हरिशंकर यादव ने घटना स्थल पर पहुंचकर मौका मुआयना किया और मृतकों के आवास पर जाकर परिवारीजनों को सांत्वना दी। जिलाधिकारी ने मृतकों के पारिवारीजनों को दैवीय राहत कोष से चार-चार लाख रूपए की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने की घोषणा की है।
दर्दनाक घटना शनिवार सुबह लगभग 09: 00 बजे के करीब की है। तहसील सहसवान के ग्राम नगला वरन के निकट स्थित गंगा नदी में पानी के तेज बहाव तथा चक्रवात के कारण नाव डूब गई। नाव में लगभग 15 महिलाएं एवं बच्चे सवार थे, जिसमें रामेश्वरी पत्नी सौदान सिंह (40), कमलेश पत्नी पप्पू (30), अंशिका पुत्री पप्पू (02) तथा चन्द्रवती पत्नी लाईक सिंह (40) की घटना स्थल पर ही पानी में डूबने के कारण मृत्यु हो गई, उनके पार्थिक शरीर को गोताखोरों तथा ग्रामवासियों के सहयोग से निकाला गया। पवित्रा पुत्री पप्पू (12) खुशबू पुत्री देवराय (15) तथा तारावती पत्नी खिलाड़ी सिंह (45) के शव अभी तक नहीं मिल सके हैं, जिन्हें गोताखोरों द्वारा तलाशा जा रहा है। नाव में बैठी शेष महिलाएं तथा बच्चे सही सलामत निकाल लिए गए हैं।
घटना की सूचना मिलते ही जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने घटना स्थल पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। मृतकों के पारिवारीजनों को सांत्वना देते हुए दैवीय आपदा राहत कोष से चार-चार लाख रूपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि इसके अलावा अन्य शासकीय सहायता भी दी जाएगी। जिलाधिकारी ने पीड़ित परिवारीजनों की दुखद पीड़ा को दृष्टिगत रखते हुए मृतकों का पोस्टमार्टम कराने हेतु सहसवान स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर ही कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी डाक्टर दीपक सक्सेना सहित पूरी पोस्टमार्टम करने वाली टीम को सहसवान में तलब कर पोस्टमार्टम कराया। जिलाधिकारी ने पानी के तेज बहाव को मद्देनजर रखते हुए कछला स्थित पुल पर भी उप जिलाधिकारी (सदर) प्रदीप कुमार यादव को भेजकर जाल लगवाने के निर्देश दिए हैं। माना जा रहा है कि आज आये भूकंप से पहले जल में चक्रवात आया होगा, जिसकी चपेट में नाव आ गई।
उधर बदायूं लोकसभा क्षेत्र के सांसद धर्मेन्द्र यादव ने घटना पर शोक व्यक्त करते हुए कहा है कि मृतक आश्रितों की हर संभव सहायता की जायेगी, वे दुःख की घड़ी में पीड़ित परिवारों के साथ है।

Leave a Reply