दीपावली के अवसर पर स्कूल में नन्हें-मुन्नों ने किया धमाल

समारोह में मौजूद अतिथिगण।
समारोह में मौजूद अतिथिगण।

बदायूं स्थित ब्लूमिंगडेल स्कूल परिसर में तीन दिन से संचालित अन्तर्सदनीय प्रतियोगिताओं का आज समापन हो गया। बच्चों की प्रतिभा को उकेरने के उद्देश्य से भिन्न-भिन्न प्रकार की प्रतियोगिताएं आयोजित की गईं, जिसमें काव्य पाठ, प्रश्नोत्तरी, आर्ट, टैलेन्ट हंट, स्पेल-ओ-बी, सुलेख, ब्रेन टीजर्स, भाषण, कहानी, एक्सटैंपोर, रंगोली, सामूहिक नृत्य, लघुनाटिका, निबंध लेखन आदि मुख्य रहीं।

प्रतियोगिता में छात्र-छात्राओं ने अपनी-अपनी रूचि के अनुरूप हिस्सा लिया और पूर्ण जोश व उत्साह से अपनी योग्यता व प्रतिभा का प्रदर्शन कर अपने प्रतिद्वंद्वी को दुर्लभ लक्ष्य रखा। बच्चों ने अनेक शिक्षाप्रद कहानी व कविता सुनाईं, अपने अभिनय व नृत्य प्रतिभा को प्रदर्शित किया, गायन में स्वर मलिकाएँ सुमधुर तरीके से प्रदर्शित की, अपनी बुद्धिमत्ता का परिचय देते हुए प्रश्नोत्तरी में ज्ञानवर्धन किया और अनेक व्यर्थ की वस्तुओं से दैनिक उपयोगी की वस्तुओं को बनाकर अपनी क्रियात्मकता का परिचय दिया। इसके अतिरिक्त ब्लूम्स में नन्हें-मुन्ने बच्चों ने खुशियों का त्योहार दीपावली को अत्यंत ही हर्षोल्लास पूर्वक मनाया। इस अवसर पर बच्चों ने एक-दूसरे के साथ मिलकर मिठाई खाई, अपनी-अपनी कक्षाओं को अत्यंत ही मनमोहक ढंग से सुसज्जित किया एवं ‘ईकोफ्रेंडली’ दीपावली मनाने का प्रण लिया।

नृत्य के दौरान भाव-पूर्ण मुद्रा।
नृत्य के दौरान भाव-पूर्ण मुद्रा।

इस अवसर पर जिलाधिकारी पवन कुमार की पत्नी पीसीएस अफसर अंजू सिंह मुख्य अतिथि रहीं, उनके साथ मणी गुप्ता, डॉ. पारूल गुप्ता, डॉ. मधु गौतम भी विशिष्ठ अतिथि के रूप में उपस्थित रहीं, सभी अतिथियों ने गणपति पूजन एवं लक्ष्मी पूजन करके कार्यक्रम का शुभारम्भ किया, इस दौरान छोटे-छोटे बच्चों का उत्साह देखतेे ही बन रहा था। गुब्बारे वाला, पॉपकॉर्न वाला और न जाने क्या-क्या बच्चे बन कर आये थे। बच्चों ने आये हुए सभी अतिथियों को अपने हाथ से बनाये हुए छोटे-छोटे गिफ्ट दिये तथा इस वर्ष की दिवाली को भारत माँ के शहीदों के नाम समर्पित किया।

नृत्य करती छात्रायें।
नृत्य करती छात्रायें।

इस मौके पर प्रधानाचार्या वन्दना सक्सेना ने कहा कि इस प्रकार के कार्यक्रम के आयोजन का मुख्य उद्देश्य बच्चों में सर्व-धर्म समभाव की भावना को विकसित करना है, ताकि वो यह सीख सकें कि विभिन्न धर्मों के साथ रहते हुए किस तरह हमें अपने त्यौहारों को मनाना चाहिये, इन दोनों कार्यक्रमों को सफल बनाने में समस्त विद्यालय स्टाफ के साथ-साथ ईशान मेंहदीरत्ता का विशेष योगदान रहा, इस दौरान स्कूल निदेशक ज्योति मेंहदीरत्ता, अध्यक्षा पम्मी मेंहदीरत्ता, अनीता धमीजा एवं नीविया आहूजा के साथ समस्त स्टाफ उपस्थित रहा।

Leave a Reply