हरे-भरे स्वच्छ स्कूल ब्लूमिंगडेल को दिल्ली में मिला पुरस्कार

दिल्ली में अवार्ड लेते हुए निदेशक पम्मी मेहंदीरत्ता व प्रधानाचार्या वंदना सक्सेना।
दिल्ली में अवार्ड लेते हुए निदेशक पम्मी मेहंदीरत्ता व प्रधानाचार्या वंदना सक्सेना।

बदायूं शहर के ब्लूमिंगडेल स्कूल को जिले के सर्वोत्तम स्वच्छ एवं हरित स्कूल घोषित करते हुए ‘ग्लोबल लीडर्स फाउण्डेशन’ की ओर से पुरस्कृत किया गया है। दिल्ली के एक होटल में आयोजित किये गये पुरस्कार वितरण समारोह में निदेशक व प्रधानाचार्या ने पुरस्कार ग्रहण किया। पुरस्कार उत्तराखंड के भूतपूर्व मुख्यमंत्री एवं राज्यसभा के सदस्य भगत सिंह कोश्यारी द्वारा प्रदान किया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे भूटान नरेश के प्रतिनिधि तेनजिंग ने “पौधारोपणः जीवन के लिए कितना उपयोगी” विषय पर ज्ञानवर्धक विचार व्यक्त करते हुए भूटान में तीव्रगति से हो रहे पौधारोपण के संबंध में भी विस्तार से बताया, इस दौरान कम्प्यूटर स्लाइड के माध्यम से भूटान नरेश के संदेश का भी प्रसारण किया। अन्य वक्ताओं ने सभी स्कूलों के शिक्षकों एवं नागरिकों को पौधारोपण करने एवं स्वच्छता के लिए प्रेरित किया, यह भी बताया कि बच्चों में इस अच्छी आदत का विकास भी अति आवश्यक है, जिसके लिए स्कूल की भी महत्वपूर्ण भूमिका होती है, इस भूमिका में कुछ स्कूलों का कार्य अत्यंत ही सराहनीय है और जिन्हें समय-समय पर ऐसे अच्छे कार्यों के लिए पुरस्कृत व सम्मानित किया जाता रहेगा।

समारोह में भाजपा नेता वीरेन्द्र जुयाल, विजेन्द्र अग्रवाल, एजूकेशन काउंसलिंग ऑफ इण्डिया के निदेशक रमेश त्रिपाठी आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे, इस अवसर पर ब्लूमिंगडेल स्कूल की अध्यक्षा पम्मी मेंहदीरत्ता, ज्योति मेंहदीरत्ता, अनीता धमीजा, प्रधानाचार्या वन्दना सक्सेना, सैफ उद्दीन एवं शैलेन्द्र यादव उपस्थित रहे, सभी स्कूल को बेहतर बनाने में सहयोग करने वालों को धन्यवाद दिया।

Leave a Reply