वजीरगंज की प्रमुख के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाने को 42 सदस्य तैयार

शपथ पत्रों का सत्यापन करते बीडीओ।

बदायूं जिले के ब्लॉक सालारपुर की प्रमुख के विरुद्ध अधिकांश क्षेत्र पंचायत सदस्य अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में हैं। सदस्य 20 अगस्त को शपथ पत्र जिलाधिकारी के समक्ष प्रस्तुत कर चुके हैं, लेकिन अभी तक चुनाव की तिथि निर्धारित नहीं की गई है। ब्लॉक वजीरगंज की प्रमुख के विरुद्ध भी शपथ पत्र दिए गये थे, जिनका आज सत्यापन किया गया।

ब्लॉक वजीरगंज क्षेत्र के 58 असंतुष्ट सदस्यों द्वारा जिलाधिकारी के समक्ष अविश्वास प्रस्ताव को लेकर शपथ पत्र दिए गये थे। जिनका आज ब्लॉक मुख्यालय पर सत्यापन कराया गया। सत्यापन के दौरान 42 क्षेत्र पंचायत सदस्यों के शपथ पत्र सही पाए गये। शपथ पत्र सत्यापन के बाद अब जिलाधिकारी द्वारा तिथि निर्धारित की जायेगी। वजीरगंज क्षेत्र में कुल 72 सदस्य हैं। अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए 37 सदस्यों का समर्थन चाहिए, जबकि अभी तक 42 सदस्य पक्ष में हैं। माना जा रहा है कि वजीरगंज की ब्लॉक प्रमुख के विरुद्ध आने वाले अविश्वास प्रस्ताव में हाल-फिलहाल कोई अड़चन नहीं है, लेकिन जिस तरह भाजपा में गुटबंदी है, उससे नहीं पता कि कौन विरोधी किस विधायक और पदाधिकारी की गोदी में जाकर बैठ जाये, इसलिए जब तक प्रस्ताव विधिवत पारित न हो जाये, तब तक कुछ नहीं कहा जा सकता।

यह भी बता दें कि सपा सरकार में वजीरगंज की ब्लॉक प्रमुख के पति अरविंद वार्ष्णेय की तूती बोलती थी। शपथ ग्रहण समारोह में पूर्व दर्जा राज्यमंत्री आबिद रजा के साथ पति-पत्नी समारोह स्थल पर पहुंचे थे, इसके अलावा जिले के कब्रिस्तानों की बाउंड्रीवाल निर्माण को शासन से करीब 10 करोड़ रुपये मिले थे। निर्माण कार्य में गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखा, जिसकी शिकायत पर उच्चस्तरीय टीम ने जाँच की, तो परियोजना प्रबंधक ए.के. सिंह द्वारा सदर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया। मुकदमे में मै. नीना ट्रेडर्स वजीरगंज का भी उल्लेख है, जिसका संचालक अरविंद वार्ष्णेय ही है, इसके अलावा वजीरगंज थाना क्षेत्र के गाँव सुरसेना निवासी अहसान अली की ओर से थाना वजीरगंज में अरविंद वार्ष्णेय के विरुद्ध एक मुकदमा दर्ज कराया गया, जिसमें आरोप है कि सुरेश कस्बा वजीरगंज के मोहल्ला गोपालपुर का मूल निवासी है और अरविंद गुप्ता की गाड़ियाँ चलाता है। गाँव का प्रधान पद पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित हुआ, तो अरविंद गुप्ता ने अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर अपने ड्राइवर का वोट मतदाता सूची में बढ़वा लिया, साथ ही पड़ोसी गाँव हथरा की मतदाता सूची में भी सुरेश का नाम दर्ज करा दिया गया। सपा सरकार में थाना वजीरगंज का एसओ अरविंद वार्ष्णेय के इशारों पर ही काम करता था, जिससे कुछ नहीं हुआ। सपा सरकार में हिस्ट्रीशीटर अरविंद वार्ष्णेय के इशारों पर काम करने वाले एसओ नरेश कश्यप भाजपा सरकार में भी वजीरगंज का एसओ बनने का प्रयास कर रहे हैं।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

पढ़ें: चर्चित हुआ अभियुक्त की प्रमुख पत्नी का शपथ ग्रहण समारोह

पढ़ें: ब्लॉक प्रमुख के भ्रष्ट व षड्यंत्रकारी पति को बचा रही है पुलिस

पढ़ें: 98वें नंबर के दुराचारी के इशारे पर काम करती है पुलिस

पढ़ें: शपथ पत्रों के साथ सालारपुर ब्लॉक के सदस्य डीएम से मिले, कल आने को कहा

Leave a Reply