अभियुक्त को छोड़ने वाले कोतवाल को एसएसपी ने किया निलंबित, हड़कंप

भाजपा विधायक आरके शर्मा के पुत्र का हाल ही में विवाह हुआ था, जिसके बाद नव-विवाहित जोड़ा पारंपरिक पूजा करने हेलीकॉप्टर से पैतृक गाँव नाग भानपुर आये थे, जहाँ ड्यूटी के दौरान निलंबित किये गये कोतवाल प्रमोद कुमार मॉडलिंग करते हुए देखे गये थे, उसी दौरान लिया गया फोटो।

बदायूं के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक चन्द्रप्रकाश ने छुट्टी से लौटते ही महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। जांच में दोषी पाये गये बिसौली के कोतवाल प्रमोद कुमार को निलंबित कर दिया है, जिससे विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।

बताया जाता है कि पिछले दिनों बरेली के प्रशांत नाम के युवक ने बिसौली निवासी वैभव गुप्ता के पास एक बाइक गिरवी रखी थी। प्रशांत ने बाइक एक फाइनेंस कंपनी से ऋण लेकर खरीदी थी, जिसे वैभव से फाइनेंस कंपनी वाले ले गये। वैभव को बाद में ज्ञात हुआ कि बाइक के कागजात भी फर्जी थे, जिसकी शिकायत वैभव ने पुलिस से की, तो आरोप है कि हिरासत में लेने  के बाद कोतवाल प्रमोद कुमार ने प्रशांत को छोड़ दिया। प्रशांत को रिश्वत लेकर छोड़ने की शिकायत उच्चाधिकारियों से की गई। उच्चाधिकारियों के आदेश पर अपर पुलिस अधीक्षक (नगर) ने प्रकरण की जाँच कर आख्या उच्चाधिकारियों को दे दी।

सूत्रों का कहना है कि जाँच में कोतवाल प्रमोद कुमार दोषी पाये गये हैं, जिस पर आज छुट्टी से लौटते ही तेजतर्रार एसएसपी चन्द्रप्रकाश ने प्रमोद कुमार को निलंबित कर दिया। कोतवाल प्रमोद कुमार के विरुद्ध कार्रवाई होने से विभाग में भी हड़कंप मच गया है। बिसौली में कोतवाल का कार्यभार एसएसआई पर ही है, वहां अभी किसी की तैनाती नहीं की गई है। यह भी बता दें कि शिकायत के बाद प्रशांत को धारा- 420, 467, 468 आईपीसी के अंतर्गत जेल भी दिया था।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

Leave a Reply