खनन विभाग के प्रयासों से 86 करोड़ 38 लाख का राजस्व लाभ

दिल्ली-आगरा हाइवे के किनारे कछला के पास बदायूं में माफिया द्वारा किया गया रेत का स्टोर।
दिल्ली-आगरा हाइवे के किनारे कछला के पास बदायूं में माफिया द्वारा किया गया रेत का स्टोर।
प्रदेश के भूतत्व एवं खनिकर्म मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति के निर्देशों के क्रम में विभाग द्वारा अवैध खनन और ओवर लोडिंग के सम्बन्ध में माह जून में विशेष अभियान चलाया गया, जिसमें 109 एफ.आई.आर. दर्ज कराई गईं, 1716 वाहन, 56 जे.सी.बी. मशीन, 10 पोक लेन मशीन, 82 बुग्गी तथा 01 क्रेन जब्त किए गए। अवैध खनन में 01 लाख 72 हजार 869 घन मीटर पर कार्रवाई हुई। इसके साथ ही, 92,222 घनमीटर अवैध भण्डारण भी सीज किया गया। इससे 01 करोड़ 47 लाख 44 हजार 138 रुपए जमा हुए और 23 लाख 49 हजार 100 रुपए की नोटिस भी जारी की गई। अवैध लोडिंग की दिशा में चलाए गए इस अभियान से राजस्व के रूप में 86 करोड़ 38 लाख रुपए जून माह में प्राप्त हुए, जो विगत वर्ष की तुलना में लगभग 28 करोड़ 80 लाख से अधिक है।  विभागीय दावों के विपरीत बात करें, तो बदायूं में अवैध स्टोर पर अभी तक कार्रवाई नहीं की गई है।
शासन के प्रवक्ता ने लखनऊ में यह जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान में खनन क्षेत्रों का व्यवस्थापन ई-टेण्डरिंग/टेण्डर के माध्यम से किए जाने की नीति सरकार द्वारा घोषित कर दी गई है, जिसके तहत पूर्व से चल रहे पट्टों की अवधि जैसे-जैसे समाप्त होगी, उन क्षेत्रों को रिक्त घोषित करते हुए, उनका व्यवस्थापन नई नीति के तहत किया जाएगा, जिसके लिए समय सारणी बनाकर समयबद्ध रूप से खनन क्षेत्रों के व्यवस्थापन के निर्देश मुख्य सचिव द्वारा दिए गए।
संबंधित खबर व लेख पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

One Response to "खनन विभाग के प्रयासों से 86 करोड़ 38 लाख का राजस्व लाभ"

  1. Cathy   May 24, 2015 at 5:44 AM

    You have the monopoly on useful in’tomaoirn-arenft monopolies illegal? 😉

    Reply

Leave a Reply