आजम खां के निर्देशों को नहीं मानते सूचना निदेशक

 तेजतर्रार कैबिनेट मंत्री आजम खां
तेजतर्रार कैबिनेट मंत्री आजम खां

वरिष्ठ सपा नेता और उत्तर प्रदेश के तेजतर्रार कैबिनेट मंत्री आजम खां के निर्देशों को सूचना निदेशक नहीं मानते। सहायक सूचना निदेशक इकबाल अहमद मसूदी के प्रकरण में तो कम से कम ऐसा ही प्रतीत हो रहा है, जो चर्चा का विषय बना हुआ है।

उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री आजम खां के पास कई विभाग हैं। वह अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री भी हैं। उन्होंने बदायूं के सहायक सूचना निदेशक इकबाल अहमद मसूदी को उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद का रजिस्ट्रार बना दिया था। आजम खां से नजदीकियों के अहंकार में इकबाल अहमद मसूदी ने कार्यभार ग्रहण करने के बाद काम करने को तरजीह नहीं दी। अवकाश लिए बिना ही गायब रहते थे। आजम खां के निर्देश पर विभाग के प्रमुख सचिव देवेश चतुर्वेदी ने लापरवाही के आरोप में इकबाल अहमद मसूदी को सूचना विभाग वापस करते हुए सूचना निदेशक से निलंबित करने की संस्तुति 11 जून को कर दी।

इकबाल अहमद मसूदी बदायूं में सहायक सूचना निदेशक के पद पर कार्यरत थे, जिससे वह बदायूं वापस आ गए हैं। 11 जून को जारी किये गए पत्र के क्रम में अभी तक इकबाल अहमद मसूसी के निलंबन का आदेश बदायूं नहीं पहुंचा है। उधर बदायूं आते ही इकबाल अहमद मसूदी ने संपूर्ण कार्य अपने हाथ में ले लिए हैं। बैठकों में भी खुद ही जा रहे हैं, पर प्रेस नोट जारी नहीं करते। एक-दो अखबार के कार्यालय में हाथ से लिख कर प्रेस नोट भेज देते हैं, जबकि बदायूं में लंबे समय से ई-मेल से प्रेस नोट जारी हो रहे थे, जिससे अधिकाँश पत्रकार परेशान हैं।

Leave a Reply