साहसी दारोगा अरुणा राय के अपराधी को मिली जमानत

कोर्ट से बाहर आता आरोपी निलंबित डीआईजी (पीटीएस) देवी प्रसाद श्रीवास्तव।
कोर्ट से बाहर आता आरोपी निलंबित डीआईजी (पीटीएस) देवी प्रसाद श्रीवास्तव।

मेरठ स्थित पुलि‍स ट्रेनिंग सेंटर (पीटीएस) के निलंबित डीआईजी डीपी श्रीवास्तव को कोर्ट ने मंगलवार को यौन उत्पीड़न के प्रकरण में जमानत दे दी। आरोपी अब तक अंतरिम जमानत पर छूटा हुआ था।

उल्लेखनीय है कि मेरठ स्थित पुलि‍स ट्रेनिंग सेंटर में ही तैनात महिला दारोगा अरुणा राय का निलंबित डीआईजी डीपी श्रीवास्तव ने अपने ऑफिस में यौन उत्पीड़न किया था। साहसी अरुणा ने न सिर्फ ऑफिस में ही विरोध किया, बल्कि शासन स्तर पर शिकायत भी कर दी। उच्च स्तरीय जांच के बाद मुकदमा लिखा गया, लेकिन अरुणा का आरोप है कि विवेचक आरोपी को मदद पहुंचा रहे हैं।
उक्त प्रकरण में मंगलवार को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में जमानत को लेकर सुनवाई हुई। सुनवाई के बाद कोर्ट ने एक-एक लाख के दो जमानती और एक लाख के ही निजी मुचलके पर आरोपी डीरआईजी डीपी श्रीवास्तव को जमानत दे दी। इससे पहले आरोपी अंतरिम जमानत पर छूटा हुआ था।
उधर साहसी दरोगा अरुणा राय न्यायालय में लड़ाई लड़ने के साथ सामाजिक तौर पर भी आरोपी के विरुद्ध लड़ रही हैं। उन्होंने सोशल साइट् फेसबुक पर आरोपी के विरुद्ध जंग शुरू कर दी है, जिसमें उन्हें अपार समर्थन मिल रहा है। कुछ ही समय में उनसे पाँच हजार से अधिक लोग जुड़ चुके हैं। सम्मान को लेकर लड़ रही अरुणा को व्यापक समर्थन ही नहीं मिल रहा है, बल्कि लोग उनकी खुल कर प्रशंसा भी करते नज़र आ रहे हैं।

संबंधित लेख पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

यौन अपराधियों के विरुद्ध एकजुट हो समाज

अरुणा राय और तनु शर्मा को न्याय दिलाने के लिए प्रदर्शन

Leave a Reply