बुराईयों को दूर करने का संकल्प लेने के साथ अंसारी समाज ने दिखाई शक्ति

जिला स्तरीय अधिवेशन में मौजूद अंसारी समाज के अतिथिगण।

बदायूं में मोमिन अंसार वैलफेयर सोसायटी के तत्वाधान में अंसारी समाज का जिला स्तरीय अधिवेशन आयोजित किया गया, जिसमें अंसारी समाज के हजारों लोग मौजूद रहे। अधिवेशन के समारोह का शुभारंभ फरिया आलम ने एक नज्म के साथ किया तथा तिलावते कुरान हाफिज उवैस अन्सारी ने किया।

अधिवेशन के मुख्य अतिथि बरेली के पूर्व विधायक इस्लाम साबिर रहे, उन्होंने कहा कि हमें हर क्षेत्र में अपना प्रभुत्व स्थापित करना चाहिये, जिस प्रकार हमारे पूर्वजों ने देश की आजादी के लिये अपनी कुर्बानियां दी, हमें उनको याद करते हुए आगे बढ़ना चाहिए, तभी हमारा समाज एक सभ्य समाज बन पाएगा।

विशिष्ट अतिथि भोजीपुरा क्षेत्र के शहजिल इस्लाम ने कहा कि हमारा फोकस शिक्षा पर होगा, तब हम तरक्की की राह पार कर पायेंगे, हम लोग तमाम प्रकार के कार्यक्रमों में समय-समय पर शामिल होते रहते हैं, हमें सोचना होगा कि जिस उददेश्य से हम कार्यक्रम में आते हैं, उसके बदले वहां से लेकर क्या जाते हैं, हमें इस बात पर सोचना होगा। विशिष्ट अतिथि के रूप में यूसुफ अंसारी ने कहा कि हमें अपनी बात को रखने के लिए अपने अंदर हिम्मत को जुटाना होगा, तब हम अपनी बात को सार्वजनिक कर पायेंगे, क्योंकि मां भी अपने बच्चे को दूध तब पिलाती है, जब वह रोता है।

कार्यक्रम के संयोजक डॉ. शकील अहमद अंसारी ने कहा कि पीछे रहकर जिनकी आवाज अभी तक दबा दी जाती थी, उनकी आवाज को व्यापक स्तर पर बुलन्द किया जाएगा, किसी निर्दोष पर अन्याय को सहन किसी कीमत पर नहीं किया जायेगा, इसके बदले जान भी देनी पड़े, तो पीछे नहीं हटेंगे, कमजोरों के साथ क्रान्ति का इतिहास दोहराया जाएगा। प्रबन्धक शमशाद हुसैन अंसारी ने कहा कि सोसायटी अपने मकसद के तहत लगातार आगे बढ़ रही है, केवल आपके सहयोग की आवश्यकता है। यामीन अंसारी ने कहा हमें खुद को बदलना होगा, तब हम कौम को बदल पायेगें, हमें शुरूआत अपने से और अपने घर से करनी होगी, तब जाकर हम एक जिन्दा कौम नजर आयेंगे।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे ए. एम. यू. के प्रो. शकील समदानी ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि जो ईश्वर के अहकामों का पालन नहीं करेगा, वह अपनी जिंदगी में किसी कीमत पर कामयाब नहीं हो सकता, जो कौम सो जाती है, वह पस्ती में चली जाती है, उसका कोई रहनुमा नहीं होता, सदियां लग जाती हैं, उसको उभरने में। बोले- हमें महिला शिक्षा को फोकस करना होगा, जिस कौम की महिलायें शिक्षित होती हैं, वह कौम बहुत तरक्की करती है, हमें ईश्वर को पहचानना होगा, अपनी जिन्दगी के मकसद को सामने रखना होगा, तब हम आगे बढ़ेंगे। इस मौके पर इरशाद अंसारी, हाफिज इरफान अंसारी, साजिद अंसारी ने भी विचार व्यक्त किए।

जिला स्तरीय अधिवेशन में मौजूद अंसारी समाज के लोग।

कार्यक्रम का संचालन इस्लाम अंसारी ने किया, इस मौके पर पूर्व सभासद वसीम अंसारी, छात्र नेता जिया अंसारी, इस्तियाक अंसारी, नवाब हुसैन अंसारी, मुईनुददीन अंसारी, अदील अंसारी, जुबैर अंसारी, फरहत अंसारी, जावेद अंसारी, सभासद आमिर अंसारी, इकबाल अंसारी, जफर अंसारी, अनवर अंसारी, जसीम अंसारी, इकरार अंसारी, साकिब अंसारी, नदीम अंसारी, शाकिर रहमानी, सुब्हान अंसारी, सरफराज अंसारी, नाजिम अंसारी और शफी अहमद सहित हजारों लोग मौजूद रहे। यहाँ यह भी बता दें कि अंसारी समाज की एकता का प्रदर्शन होने से राजनैतिक हल्कों में खलबली मच गई है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published.