शत-प्रतिशत बांटें राशन, दुकानों को पेटीएम और स्विप मशीन से करें कैशलेस

समीक्षा करते डीएम पवन कुमार।

बदायूं जिले में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत पात्र लाभार्थियों को खाद्यान्न एवं मिट्टी का तेल नियमित रूप से अवश्य मिलना चाहिए। किसी भी अधिकारी, कर्मचारी तथा कोटेदार के स्तर पर अनियमितता अथवा संलिप्तता पाई जाती है, तो वह कितनी ही पहुंच वाला क्यों न हो, उनकी कार्रवाई से बच नहीं सकेगा। खाद्यान्न की कालाबाजारी करने वालों को अब जेल की हवा खानी ही पड़ेगी।

वर्षां से बिगड़ी व्यवस्था को ढर्रे पर लाने के लिए जिलाधिकारी पवन कुमार ने सोमवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभाकक्ष में एसडीएम, खण्ड विकास अधिकारियों तथा पूर्ति निरीक्षकों के पेंच कसे। उन्होंने कहा कि सम्बंधित अधिकारी सुनिश्चित करें कि गोदाम से खाद्यान्न उठाने के बाद गांव तक अवश्य पहुंचे। एसडीएम व्हाट्सएप ग्रुप तैयार करें। कोटेदार अनाज को दुकान तक ले जाकर ग्रामीणों के साथ अनाज उतारते समय का फोटो अपलोड कर एसडीएम को भेजें। डीएम ने निर्देश दिए कि राशन वितरण प्रणाली में सौ प्रतिशत सुधार कराया जाए और ऐसी व्यवस्था बनाई जाए कि जनता को अहसास हो कि अब व्यवस्था में सुधार आया है।

अपात्रों के राशन कार्ड किए जाएंगे निरस्त 

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अन्तर्गत नगरीय क्षेत्र में 64.43 प्रतिशत एवं ग्रामीण क्षेत्र में 79.56 प्रतिशत आबादी को लाभान्वित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। पूर्ति विभाग के आंकड़ों के आधार पर नगरीय क्षेत्रों में 0.43 तथा ग्रामीण क्षेत्रां में 1.25 प्रतिशत लक्ष्य अवशेष होने पर डीएम ने कड़ी नाराज़गी जताते हुए 31 मार्च तक शत-प्रतिशत लक्ष्य पूरा करने के निर्देश दिए हैं। जिलाधिकारी पवन कुमार ने बैठक के दौरान एसडीएम और पूर्ति निरीक्षकों को निर्देश दिए कि आए दिन अपात्रों के राशन कार्ड बनाने तथा पात्र लोगों के वंचित रहने सम्बंधी शिकायतें प्राप्त होती रहती है। सम्बंधित अधिकारी अभियान चलाकर सर्वें करें और अपात्रों के राशन कार्ड निरस्त कर योजना का लाभ दें। शेष लक्ष्य को भी पूर्ण किया जाए।

निशाने पर हैं दातागंज और शेखूपुर 

डीएम पवन कुमार ने कहा कि तहसील दातागंज और शेखूपुर क्षेत्र के कोटेदारों की मनमानी तथा नियमित वितरण सम्बंधी उन्हें शिकायतें प्राप्त होती ही रहती हैं, इसलिए सम्बंधित एसडीएम, बीडीओ और पूर्ति निरीक्षक इन क्षेत्रों की ओर विशेष ध्यान देते हुए कोटेदारों पर कड़ा शिकंजा कसें। अनियमिता पाए जाने पर किसी के साथ कोई रियायत न बरतें।

पेटीएम और स्विप मशीन की व्यवस्था करें 

ट्राइल के तौर पर कई राशन की दुकानों पर पेटीएम, स्विप मशीन स्थापित कराकर कैशलेस भुगतान की व्यवस्था की गई है। नगर पालिका परिषद दातागंज एवं नगर पंचायत गुलड़िया को चयन कर यहां के उचित दर विक्रेताओं की दुकानों पर पेटीएम, स्विप मशीन की व्यवस्था की, साथ ही ग्रामीण क्षेत्र में ब्लॉक दातागंज अन्तर्गत ग्राम गलौथी एवं ब्लाक जगत के ग्राम दियोरीजीत की दुकानों पर भी स्विप मशीन उपलब्ध है। नगर क्षेत्र बदायूं में दो उचित दर विक्रेता आफताब अली तथा संजय की दुकानों पर पेटीएम के माध्यम से कैशलेस भुगतान के तहत राशन वितरण किया जा रहा है।

दो पूर्ति निरीक्षकों की फटकार 

जिलाधिकारी पवन कुमार ने राशन कार्ड्स के साथ आधार नम्बर फीडिंग की समीक्षा की। उन्होंने ब्लॉक दहगवां तथा सालारपुर क्षेत्र में आधार फीडिंग का काम सुस्त पाए जाने पर दोनों पूर्ति निरीक्षकों की जमकर फटकार लगाई और हिदायत दी कि यह कार्य 31 मार्च तक अवश्य पूरा किया जाए। नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 4,94,039 राशन कार्ड्स के सापेक्ष 3,60,373 राशन कार्ड्स का ही आधार लिंक हो सका है। जनपद में नव-सृजित ग्राम पंचायतों एवं पूर्व से ही कुल 91 उचित दर की दुकानें रिक्त चल रही हैं। डीएम ने सभी दुकानों का प्रास्ताव ग्राम सभा की खुली बैठक में कराने के निर्देश दिए हैं। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन अजय कुमार श्रीवास्तव सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी मौजूद रहे।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

Leave a Reply