10 जनवरी से टिहरी एवं नरौरा बांध से 8 हजार क्यूसेक पानी छोड़ने का निर्देश

इलाहाबाद में माघ मेला परिसर का स्थलीय निरीक्षण करते वरिष्ठ अफसर।

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राहुल भटनागर ने माघ मेला- 2017 की तैयारियों का स्थलीय निरीक्षण कर वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि माघ मेला स्वच्छ, सुन्दर और दिव्य थीम के उद्देश्य से सम्पन्न कराया जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि माघ मेला में पाॅलीथीन का उपयोग न कर कुल्लड़, दोना एवं पत्तल आदि का उपयोग कराये जाने हेतु जोर दिया जाये। उन्होंने स्नानार्थियों हेतु गंगा नदी में वर्तमान जल स्तर से अधिक जल स्तर बनाने हेतु 8 हजार क्यूसेक पानी आगामी 10 जनवरी से उपलब्ध कराने हेतु टिहरी एवं नरौरा बांध से पानी पहुंचाया जाये। उन्होंने कहा कि स्नानार्थियों के लिये नदी में स्वच्छ पानी प्रत्येक दशा में उपलब्ध होना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि गंदे पानी होने की शिकायत मिली तो सम्बन्धित अधिकारियों की जिम्मेदारी नियत कर उनके विरुद्ध कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित करायी जाये। उन्होंने कहा कि नदी में गंदे पानी रोकने हेतु मात्र अनुश्रवण नही बल्कि संबन्धित अधिकारियों को नदी में गंदे पानी छोड़ने वाले फैक्ट्रियों के विरुद्ध एक्शन लेना होगा। उन्होंने मेला स्थल पर निरन्तर विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराने हेतु विद्युत सब स्टेशनों के अतिरिक्त 20 मोबाईल ट्रान्सफार्मर भी उपलब्ध रहने के निर्देश दिये। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि स्नानार्थियों की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए आवागमन हेतु रूट प्लान तैयार कराया जाये। उन्होंने स्नानार्थियों हेतु पर्याप्त पेयजल आपूर्ति हेतु पाइप लाइनों की व्यवस्था एवं धन निकासी हेतु मेला परिसर में मोबाईल एटीएम की सुविधा भी उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने माघ मेला अवधि के दौरान वर्षा होने पर जल भराव की स्थिति को रोकने हेतु आवश्यकतानुसार पम्पिंग हेतु पम्पों की व्यवस्था भी कराये जाने के निर्देश दिये।

मुख्य सचिव शनिवार को इलाहाबाद में माघ मेला परिसर का स्थलीय निरीक्षण कर जिला प्रशासन द्वारा की जा रही तैयारियों की प्रशंसा करते हुए निर्देश दिये कि निर्मित प्रत्येक पाण्टून ब्रिज में कम से कम 25 प्रशिक्षित तकनीकी कर्मी 24 घंटे तैनात रखे जायें, ताकि किसी भी सम्भावित खराबी को तत्काल ठीक कराया जाना संभव हो सके। उन्होंने कहा कि मेला परिसर में निर्माणाधीन सड़कों की आवश्यकतानुसर मरम्मत की निगरानी हेतु 15 सदस्यों की टीम अवश्य तैनात रखी जाये। उन्होंने कहा कि घाटों एवं पुलों पर एलईडी लाइट का उपयोग अधिकतर किये जाने हेतु आवश्यक कार्यवाहियां सुनिश्चित की जाये। उन्होेंने माघ मेला परिसर में आकस्मिक चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने हेतु एलोपैथिक, आयुर्वेदिक एवं होम्योपैथिक अस्पतालों के साथ-साथ 31 एम्बुलेन्स की व्यवस्था भी कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि माघ मेला परिसर में आवश्यक सफाई-व्यवस्था सुनिश्चित कराते हुए मच्छरों से बचाव हेतु फाॅगिंग कराना सुनिश्चित करायें।

श्री भटनागर ने रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों से कहा कि माघ मेला में आने वाले श्रद्धालुओं के लिये रेलवे प्रशासन द्वारा अतिरिक्त ट्रेनों का संचालन कराने, रेलवे स्टेशनों में आवश्यकतानुसार टिकट काउण्टर बढ़ाने के साथ-साथ माघ मेला परिसर में टिकट काउण्टर खोले जायें। उन्होंने कहा कि रेलवे, पुलिस एवं जिला प्रशासन की संयुक्त टीम के सदस्यों की तैनाती करते हुए कण्ट्रोल रूम खोले जायें, ताकि श्रद्धालुओं को आवश्यकतानुसार जानकारी उपलब्ध होने के साथ-साथ किसी प्रकार की असुविधा न होने पाये। उन्होंने कहा कि रेल गाड़ियों के संचालन एवं अन्य जानकारी आम श्रद्धालुओं को उपलब्ध कराने हेतु टीवी स्क्रीन भी आवश्यकतानुसार सार्वजनिक स्थानों पर लगाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। उन्होंने माघ मेला में आने वाले श्रद्धालुओें की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए यह भी निर्देश दिये कि नावों के लिये निर्धारित किये गये किराये का डिस्प्ले भी सार्वजनिक स्थलों पर कराये जाने हेतु व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाये।

मुख्य सचिव ने महन्त नरेन्द्र गिरि जी, सतुवा बाबा तथा अन्य साधू संतों से भेंट कर माघ मेला क्षेत्र में की जा रही तैयारियों की विस्तृत चर्चा की। माघ मेला क्षेत्र के निरीक्षण के समय मुख्य सचिव के साथ अपर मुख्य सचिव वन संजीव सरन, प्रमुख सचिव गृह देबाशीष पाण्डा, पुलिस महानिदेशक जावीद अहमद, सचिव नगर विकास एस. पी. सिंह सहित विद्युत, जल संस्थान एवं चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारी तथा मण्डलायुक्त इलाहाबाद राजन शुक्ला, आई. जी. डॉ. के. प्रताप, जिलाधिकारी इलाहाबाद संजय कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

Leave a Reply