डीएम पुष्पा सिंह माधोगोपाल के विरुद्ध कार्रवाई करेंगी क्या?

शाहजहाँपुर में कार्यभार ग्रहण करतीं जिलाधिकारी पुष्पा सिंह।
शाहजहाँपुर में कार्यभार ग्रहण करतीं जिलाधिकारी पुष्पा सिंह।

शाहजहांपुर जिले में भेजी गईं नई जिलाधिकारी पुष्पा सिंह पर आम जनता की अपेक्षाओं पर खरा उतरने की अहम जिम्मेदारी है, यह जिम्मेदारी वे किसी भी जिले की जिलाधिकारी बनाई जातीं, वहां की तुलना में शाहजहाँपुर में अधिक है, क्योंकि यहाँ उन्होंने ऐसे आईएएस अफसर से कार्यभार लिया है, जिसके तबादले के विरोध में शाहजहाँपुर की जनता सड़कों पर उतर आई। हांलाकि पुष्पा सिंह ने आज कार्यभार ग्रहण करने के बाद जनता को आश्वस्त किया है कि जिले की जनता को निराश नहीं होने देंगी और सभी समस्याओं को विधिवत सुनते हुए उनका निस्तारण भी कराया जायेगा। शासन की योजनाओं को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण कराया जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि पूर्व जिलाधिकारी विजय किरन आनंद के कार्यों तथा उनकी अपेक्षाओं को वे आगे बढ़ाने का प्रयास करेंगी। जनता की अपेक्षाओं पर वे कितना खरा उतर पाती हैं, यह भविष्य ही तय करेगा। 

उल्लेखनीय है कि निवर्तमान जिलाधिकारी विजय किरन आनंद शाहजहाँपुर की जनता के बीच छा गये थे, वे ईमानदारी और कर्तव्यपरायढ़ता की मिसाल के रूप में उभर कर सामने आये थे, उन्होंने भ्रष्टाचारियों और लापरवाहों के विरुद्ध अभियान सा छेड़ दिया था, जिससे माफियाओं के होश उड़ गये थे। सबसे चर्चित प्रकरण प्रदूषण को लेकर अनियमित तरीके से चल रही फैक्ट्रियों के विरुद्ध जांच बैठाना था, इस प्रकरण में चिन्मयानंद नाम का कथित संत के. आर. पेपर मिल के मालिक माधोगोपाल को ब्लैकमेल भी कर चुका है, जिससे उसके कारिंदों द्वारा चलाया जा रहा आंदोलन ठप करा दिया गया। अब सबसे बड़ा सवाल यही है कि नई जिलाधिकारी पुष्पा सिंह के. आर. पेपर मिल और उसके मालिक माधोगोपाल के विरुद्ध कार्रवाई करेंगी, या नहीं?

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

कथित संत चिन्मयानंद ने माधोगोपाल से लिए पचास लाख

Leave a Reply