19972 लेखपाल अभ्यर्थियों के लिए बनाये गये 18 केन्द्र

लेखपाल भर्ती परीक्षा से संबंधित बैठक करते जिलाधिकारी शंभूनाथ।
लेखपाल भर्ती परीक्षा से संबंधित बैठक करते जिलाधिकारी शंभूनाथ।
बदायूं में 13 सितम्बर को आयोजित होने वाली लेखपाल भर्ती परीक्षा में 19972 अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। शहर के 18 स्कूलों को परीक्षा केन्द्र बनाया गया है। जिलाधिकारी शम्भूनाथ, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सौमित्र यादव ने पूर्ण निष्पक्षता व पारदर्शिता के साथ कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में लेखपाल भर्ती परीक्षा आयोजित कराने के सख्त निर्देश दिए हैं।
सोमवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभा में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी, एसएसपी ने सम्बंधित अधिकारियों, केन्द्र व्यवस्थापकों के साथ परीक्षा की तैयारियों की समीक्षा करते हुए हिदायत दी कि परीक्षा में किसी भी कोताही को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, यदि किसी केन्द्र व्यवस्थापक, केन्द्र पर्यवेक्षक, अन्तरीक्षक की भूमिका संदिग्ध पाई जाती है तो उसके विरूद्ध कठोर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। परीक्षा केन्द्र में सम्बंधित अधिकारियों, और डयूटी स्टाफ के अलावा किसी को भी प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। परीक्षा दो पालियों में होगी। प्रथम पाली प्रातः 10.30 से 12 बजे तक तथा दूसरी पाली 3.00 से 4.30 बजे तक होगी। प्रवेश पत्र के बिना किसी भी परीक्षार्थी को प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा, आवेदन के समय लगाए गए फोटोग्राफ की दूसरी कापी हर परीक्षार्थी को अपने साथ लानी होगी और प्रवेश पत्र में लगे फोटोग्राफ के बराबर ही उसको चस्पा करके डयूटी स्टाफ से सत्यापित कराना होगा। परीक्षा में नोडल अधिकारी के अलावा जोनल, सेक्टर, स्टैटिक मजिस्ट्रेट भी लगाए जाएंगे।

परीक्षा केन्द्र में  मोबाइल, अन्य इलेक्ट्रानिक उपकरण ले जाने पर भी पूर्णतयाः प्रतिबन्ध रहेगा। केन्द्र पर पर्याप्त फर्नीचर की उपलब्धता के अतिरिक्त पेयजल, प्रकाश व्यवस्था, पार्किंग तथा महिला एवं पुरूष के अलग-अलग शौचालयों की व्यवस्था कराई जाएगी। इसके अलावा किसी प्रकार की किताब कापी साथ लाए गए बैग आदि सामान को गेट पर रखने के लिए निश्चित स्थान पर छोड़ना होगा। लेखपाल भर्ती परीक्षा में शासन द्वारा जिलाधिकारी को जनपद पर्यवेक्षक नामित किया गया है। परीक्षा के दिन डीएम, एसएसपी तथा बनाए गए उड़न दस्तों द्वारा लगातर परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण किया जाएगा। बैठक में अपर जिलाधिकारी प्रशासन अशोक कुमार श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व राजेन्द्र प्रसाद यादव, नोडल अधिकारी बदलू प्रसाद सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply