अखिलेश यादव को गाली देने और भड़काऊ मैसेज करने पर मुकदमा दर्ज

अखिलेश यादव

सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाना भारी पड़ सकता है। एक व्हाट्सएप ग्रुप में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को गाली देने और भड़काऊ मैसेज शेयर करने के प्रकरण में नोयडा के सेक्टर- 20 थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है। आरोपी किसी समय गिरफ्तार किये जा सकते हैं। आरोपी फरार बताये जा रहे हैं।

सपा की युवजन सभा के नेता व पेशे से वकील कैलाशपुर सूरजपुर के निवासी नवीन भाटी की ओर से दर्ज कराये गये मुकदमे में कहा गया है कि व्हाट्सएप पर एक चैनल के नाम से ग्रुप बना हुआ है, जिसमें पवन राजपूत नाम के एक व्यक्ति ने धार्मिक उन्माद फैलाने वाली पोस्ट शेयर की है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की छवि धूमिल करने का प्रयास किया गया है एवं अखिलेश यादव को गाली दी गई है।

मैसेज में उत्तर प्रदेश के जिलों में धार्मिक स्थलों को तोड़े जाने के झूठे आंकड़े दिए गए हैं, जिसके साथ लोगों से अपील की गई है कि मैसेज पढ़ने वाले लोग बदला लें और इस मैसेज को आग की तरह फैला दें। एएसपी (सिटी) दिनेश यादव ने बताया कि शिकायत पर ग्रुप एडमिन प्रदीप मिश्रा और पवन राजपूत के खिलाफ सांप्रदायिकता भड़काने और आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। प्राथमिक जांच में पता चला है कि दोनों पत्रकार हैं, जिनकी तलाश की जा रही है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

Leave a Reply