हादसे के बाद हृदय गति रुकने से गोपीनाथ मुंडे का निधन

गोपीनाथ मुंडे का फाइल फोटो
गोपीनाथ मुंडे का फाइल फोटो

हिंदुस्तान के लिए मंगल का दिन अमंगल साबित हुआ। दिन की शुरुआत होते ही केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री गोपीनाथ मुंडे के साथ हुए सड़क हादसे की खबर आई, इसके बाद 64 वर्षीय गोपीनाथ मुंडे का हृदय गति रुकने से निधन हो गया। एम्स के ट्रॉमा सेंटर में उन्होंने आज सुबह 7.20 बजे के आसपास अंतिम सांस ली।

मंगलवार की सुबह 6 बजे के आसपास वह अपने आवास से मुंबई जाने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट की ओर जा रहे थे, तभी पृथ्वीराज रोड और तुगलक रोड के बीच लोधी कॉलोनी के पास उनकी एसएक्स-4 कार को एक इंडिका कार ने साइड से टक्कर मार दी। निजी सहायक और उनके ड्राइवर का कहना है कि कार के पिछले हिस्से पर टक्कर लगी थी, जिससे वह कार से बाहर निकल कर नीचे गिर गए। उन्होंने पानी पीया और अस्पताल ले जाने को कहा। लगभग 6.30 बजे उन्हें एम्स के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों के अनुसार उन्हें दिल का दौरा भी पड़ा, जिससे हृदय गति थम गई। उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ बुधवार को उनके पैतृक गांव पर्ली में किया जाएगा।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने गोपीनाथ मुंडे के निधन पर गहरा दुख जताया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने सहयोगी गोपीनाथ मुंडे के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने कहा कि मुंडे के निधन से उन्हें गहरा आघात लगा है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने मुंडे के निधन को पार्टी के लिए बड़ी क्षति बताया। पर्यटन मंत्री श्रीपद नायक ने मुंडे के निधन को महाराष्ट्र में पार्टी के लिए बड़ी क्षति बताया। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, शिवसेना के संजय राउत ने भी मुंडे के निधन पर गहरी संवेदना व्यक्त की है।

Leave a Reply