सेक्स पर ही निर्भर है आनंद और उत्साह

सेक्स पर ही निर्भर है आनंद और उत्साह
सेक्स पर ही निर्भर है आनंद और उत्साह

सेक्सुअल लाइफ सहज न होने पर जीवन में नीरसता का भाव आ जाता है, ऐसे लोगों का झुंझलाहट में सपूंर्ण जीवन ही तबाह हो जाता है। सेक्सुअल समस्या भारत में बढ़ती जा रही है, क्योंकि भारत में सेक्स को लेकर अधिकाँश लोग कई तरह के भ्रम में रहते हैं। भारत में सेक्स शर्म का विषय माना जाता है, जिससे अधिकाँश लोग सही व्यक्ति से परामर्श करने में भी संकोच कर जाते हैं और सुनी-सुनाई बातों से बनी धारणा के तहत ही जीवन गुजार देते हैं। समाज में ऐसे लोगों की संख्या काफी अधिक है, जो सही जानकारी न होने के कारण दांपत्य जीवन का सुख सही से नहीं ले पा रहे हैं। अधिकाँश पुरुषों को यह भी भ्रम है कि महिला को सेक्स में पुरुष जितना आनंद नहीं आता, जबकि वास्तव में महिला को पुरुष की तुलना में कई गुना अधिक आनंद आता है। सेक्स साथी को आनंद देने की नीयत से करने पर अधिक आनंददायक बन जाता है, इसलिए जो पुरुष अपने आनंद के लिए सेक्स करते हैं, वह साथी से कभी खुश नहीं रह सकते।

सेक्स को लेकर और भी कई तरह के भ्रम हैं, जिन्हें दूर कर दांपत्य जीवन में और अधिक खुशियाँ लाई जा सकती हैं। वयस्कों के लिए नियमित सेक्स बेहद लाभदायक होता है। जिन्हें नींद न आने की समस्या है और नींद के लिए किसी दवा या नशे का सहारा लेते हैं, वह प्रतिदिन सेक्स करें, तो नींद न आने की समस्या से निजात मिल जायेगी, साथ ही फैट से भी छुटकारा मिल जाएगा और दिन में स्फूर्ति का अहसास रहेगा। एक स्टडी में यह बात सिद्ध हो चुकी है कि जो लोग हफ्ते में दो से ज्यादा बार सेक्स करते हैं, वह महीने में एक बार सेक्स करने वालों की तुलना में अधिक स्वस्थ रहते हैं और उनमें हार्ट अटैक होने का खतरा कम रहता है। नियमित सेक्स करने से शरीर में ऐंटिबॉडी इम्युनोग्लोबिन A (IgA) का लेवल बढ़ जाता है, जिससे कोल्ड और फीवर का असर नहीं होता।

दांपत्य जीवन पर और भी कई चीजों का असर पड़ता है। ऑफिस में काम के बोझ, व्यक्तिगत या फैमिली प्रॉब्लम्स के चलते बेडरूम में अपनी परफॉर्मेंस खराब नहीं करनी चाहिए। सेक्स करने से मूड अच्छा होता है, जिससे परेशानी का मुकाबला अच्छे से किया जा सकेगा। इसके अलावा दांपत्य जीवन को सुखद बनाने के लिए खानपान पर भी ध्यान दिया जा सकता है। डार्क चॉकलेट बेडरूम के पलों को और अधिक रोमांटिक बनाने में सहायक साबित होती है, इसमें एल-अर्जिनाइन एचसीएल नामक एमिनो एसिड पाया जाता है, जो स्पर्म की संख्या और सीमेन को बढ़ाता है। इसी तरह लहसुन में रक्त प्रवाह को बेहतर करने का गुण होता है। लहसुन आर्टीरीज के साथ जेनेटिकल अंगों में भी रक्त प्रवाह को बेहतर कर स्पर्म की संख्या में इजाफा करता है। सीप या घोंघा में भी जिंक की प्रचुर मात्रा पाई जाती है, जो स्पर्म की संख्या बढ़ाने में मददगार होती है। अखरोट में आर्जीनन होता है, जिससे स्पर्म की संख्या बढ़ने के साथ सीमन भी बढ़ता है, साथ ही इसमें ओमेगा-3 और फैटी एसिड भी पाया जाता है, जो पेनिस में रक्त प्रवाह को बढ़ाता है। अनार में एंटीआक्सीडेंट्स होता है, जो खून में पाए जाने वाला केमिकल मैल्नोएल्डीहाइड को घटाता है, जो केमिकल स्पर्म को नुकसान पहुंचाता है।

दांपत्य जीवन में सुख की चाह रखने वालों को काम का शेड्यूल भी बनाना चाहिए। हर समय काम में उलझे रहना और घर पर भी काम साथ लाना, पार्टनर का दिल दुखाता है, जिसका दुष्प्रभाव सेक्स लाइफ पर पड़ना स्वाभाविक ही है। प्रोफेशनल लाइफ को पर्सनल लाइफ से हमेशा दूर रखने का प्रयास करना चाहिए। इसके अलावा शरीर का स्वस्थ न होना भी सेक्स लाइफ डिस्टर्ब करने के लिए काफी है। अस्वस्थ व्यक्ति का आत्मविश्वास घटने लगता है, इसलिए नियमित एक्सरसाइज करनी चाहिए।

सेक्स पर ही निर्भर है आनंद और उत्साह
सेक्स पर ही निर्भर है आनंद और उत्साह

दांपत्य जीवन में फेसबुक, ट्वीटर और मोबाईल वगैरह भी बाधा बनने लगे हैं। देश और दुनिया से जुड़ा रहना आवश्यक है, पर इन सबके लिए भी एक समय निश्चित कर लेना चाहिए। पार्टनर गैजेट्स से ईर्ष्या न कर पाए, इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए। पार्टनर के वक्त में सिर्फ पार्टनर को ही निहारना चाहिए।

सेक्स के समय पार्टनर से एक्सपेक्ट नहीं करना चाहिए। अपनी तरफ से भरपूर करने की कोशिश करनी चाहिए, बदले में दोगुना आनंद स्वतः मिलेगा। इसके अलावा पार्टनर का मन होने पर अक्सर न बोलने की आदत पार्टनर को दूर कर देती है, इसलिए दोनों को दोनों की इच्छा का सम्मान करना चाहिए। सेक्स के दौरान महिलाओं को पुरुषों द्वारा अपने ऊपर लेना बेहद अच्छा लगता है। सेक्स के दौरान ऐसी छोटी-छोटी बातों का भी पूरा ख्याल रखना चाहिए।

आपके पार्टनर जैसा कोई नहीं

सेक्स पर ही निर्भर है आनंद और उत्साह
सेक्स पर ही निर्भर है आनंद और उत्साह

महिलाओं के मन में हीमैन के रूप में कोई ख़ास अभिनेता और इसी तरह पुरुषों के दिमाग में कोई ख़ास अभिनेत्री बैठ जाए, तो पार्टनर के साथ आनंद नहीं मिल सकता, इसलिए अपने मन में यह बात अच्छे से बैठा लेनी चाहिए कि आपके पार्टनर जैसा दुनिया में कोई नहीं है। सेक्स में मन की भूमिका ख़ास होती है, इसलिए सेक्स में आनंद के लिए पार्टनर से मन से जुड़ें।

मॉर्निंग सिकनेस से निजात दिलाता है ओरल सेक्स
ह्यूमन रीप्रॉडक्टिव कॉम्पिटिशन ऐंड बिहेवियर में स्पेशलाइजेशन रखने वाली संस्था गैलप ने अपनी स्टडी में कहा कि प्रेग्नेंट महिलाओं की मॉर्निंग सिकनेस ( उल्टी वगैरह) का कारण यह है कि महिला का शरीर सीमेन के जेनेटिक मैटिरियल्स को एक्सेप्ट नहीं करता। इसलिए प्रेग्नेंट महिलाओं को ओरल सेक्स लाभदायक रहता है।

 सिर दर्द से भी निजात दिलाता है सेक्स

सेक्स करने से सिर दर्द दूर होता है। स्पेशलिस्ट यह बात सिद्ध कर चुके हैं। सेक्स के दौरान सिरॉटोनिन लेवल के बढ़ने से ब्रेन के रास्ते में आने वाली बाधाएं दूर होती हैं, जिससे सिर दर्द की समस्या दूर होती है। सिर दर्द होने पर दवा लेकर सोने की जगह सेक्स ही करना चाहिए।

मोटे पुरुष अधिक देर तक करते हैं सेक्स
मोटे शरीर वाले पुरुषों की सेक्शुअल परफॉर्मेंस पतले पुरुषों की तुलना में बेहतर होती है। मोटे व्यक्ति औसतन 7.3 मिनट तक सेक्स का आनंद उठाते हैं, जबकि पतले शरीर वाला पुरुष करीब 108 सेकेण्ड तक ही आनन्द ले पाता है। मोटे पुरुषों में फीमेल हार्मोन का लेवल ज्यादा होता है, जो मेल हार्मोन्स को ब्लॉक कर देता है, जिसकी वजह से क्लाइमेक्स में देर लगती है।

2 Responses to "सेक्स पर ही निर्भर है आनंद और उत्साह"

  1. Kumod ranjan   March 11, 2013 at 11:05 PM

    Jankari ke liye dhanywad..

    Reply
    • Florent   May 23, 2015 at 7:51 AM

      Kewl you should come up with that. Execnlelt!

      Reply

Leave a Reply