सीएम के औचक निरीक्षण से प्रदेश में हडकंप

– रायबरेली के डीएसओ व पूर्ति निरीक्षक निलंबित
– रायबरेली के ही बेसिक शिक्षा अधिकारी को हटाया 
रायबरेली में औचक निरिक्षण के दौरान अधिकारियों के साथ निरिक्षण करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
रायबरेली में औचक निरिक्षण के दौरान अधिकारियों के साथ निरिक्षण करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज जनपद रायबरेली के औचक निरीक्षण के दौरान जिला पूर्ति अधिकारी विद्याराम अहिरवार को अपने क्षेत्र की उचित दर दुकानों के समुचित निरीक्षण/पर्यवेक्षण में शिथिलता बरतने, आवश्यक वस्तुओं के वितरण में लापरवाही बरतने तथा अपने अधीनस्थ कर्मचारियों पर शिथिल नियंत्रण रखने आदि अनियमितताओं के कारण निलम्बित करने के निर्देश दिए। उन्होंने सुशील चन्द्र बाजपेयी पूर्ति निरीक्षक, जिला पूर्ति कार्यालय, रायबरेली को अपने क्षेत्र की उचित दर दुकानों के समुचित निरीक्षण न करने, आवश्यक वस्तुओं के वितरण में लापरवाही बरतने तथा अपने पदीय दायित्वों एवं कर्तव्यों का सम्यक रूप से निर्वहन न करने आदि अनियमितताओं के कारण तत्काल निलम्बित करने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में इन दोनों अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री के निर्देश पर बेसिक शिक्षा अधिकारी, रायबरेली ज्ञानेन्द्र प्रताप सिंह भदौरिया को कार्यों के प्रति उदासीनता दिखाने एवं लापरवाही बरतने के कारण अन्यत्र स्थानान्तरित कर दिया गया है।
निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य के सर्वांगीण विकास के लिए कटिबद्ध है और इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही या कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विकास के लिए ग्रामीण क्षेत्रों का समान विकास अत्यन्त महत्वपूर्ण है, जिसे ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने ग्राम्य विकास की विभिन्न योजनाएं लागू की हैं।रायबरेली जनपद के विकास खण्ड बछरावां के अन्तर्गत डा. राममनोहर लोहिया समग्र ग्राम विकास योजना के तहत चयनित ग्राम रैन में कराये जा रहे विकास कार्यों का आज मुख्यमंत्री ने औचक स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने ग्राम सभा रैन का भ्रमण कर विभिन्न विकास योजनाओं के अन्तर्गत कराये जा रहे कार्यों का भी स्थलीय निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने ग्राम प्रधान से विभिन्न विकास कार्यों की प्रगति के बारे में जानकारी प्राप्त की तथा ग्रामवासियों से उनकी समस्याओं के बारे में भी पूछा। श्री यादव ने कहा कि प्रदेश का विकास करना हमारा संकल्प है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के समक्ष अनेक चुनौतियां है, जिनका निस्तारण किया जा रहा है। प्रदेश के चयनित लोहिया समग्र विकास ग्रामों में विकास कार्य तेजी से कराए जा रहे हैं।
औचक निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री ने पूर्व माध्यमिक विद्यालय रैन का मौके पर निरीक्षण किया तथा शिक्षण कार्य का भी अवलोकन किया। उन्होंने गुणवत्ता परखने के उद्देश्य से मिड-डे-मील योजना के अन्तर्गत छात्रों को खिलायी जा रही चावल व कढ़ी को चखा। उन्होंने ग्रामवासियों की मांग पर कलुई खेड़ा से रैन ग्राम तक 10 किमी लम्बी सड़क के निर्माण तथा बछरावां को नगरपालिका बनाने का आश्वासन भी दिया। उन्होंने इन्दिरा आवास, लोहिया आवास, स्वच्छ शौचालय, कृषि भूमि आवंटन, मिड-डे-मील, पेंशन, खाद्यान्न आपूर्ति सहित विभिन्न विकास कार्यों का मौके पर भौतिक सत्यापन भी किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने ग्रामवासियों से संवाद स्थापित कर राज्य सरकार द्वारा संचालित विभिन्न विकास एवं जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के सम्बन्ध में सीधी जानकारी प्राप्त की।
मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आगाह करते हुए कहा कि वे राज्य सरकार द्वारा निर्धारित मानकों एवं लक्ष्यों के अनुसार विकास कार्यों को समयबद्ध ढंग से करवाएं। उन्होंने कहा कि इसमें किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। औचक निरीक्षण के दौरान मुख्यमंत्री के साथ कारागार मंत्री राजेन्द्र चौधरी, मुख्य सचिव जावेद उस्मानी, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री राकेश गर्ग तथा जिला प्रशासन के अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply