ओम प्रकाश वाल्मीकि के निधन पर मुख्यमंत्री ने जताया शोक

  • साहित्य जगत में ओमप्रकाश वाल्मीकि की भरपाई असंभव: आजम
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने वरिष्ठ साहित्यकार ओम प्रकाश वाल्मीकि के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री वाल्मीकि ने अपनी रचनाओं के माध्यम से दलित एवं कमजोर वर्ग की पीड़ा को आवाज दी। उन्होंने भारतीय समाज के कई अनछुए पहलुओं को पाठकों के सामने प्रस्तुत किया। श्री यादव ने कहा कि श्री वाल्मीकि के निधन से हिन्दी साहित्य जगत को अपूरणीय क्षति हुई है। श्री यादव ने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की है।
प्रदेश के नगर विकास एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आजम खां ने ख्याति-प्राप्त दलित चिंतक, लेखक और साहित्य्कार ओमप्रकाश वाल्मीकि के निधन पर गहरे दुःख का इजहार किया है। उन्होंने ने कहा कि ओमप्रकाश वाल्मीकि के निधन से दलित चिंतन, लेखन और साहित्य को जो क्षति पहुंची है, उसकी भरपाई कर पाना बहुत मुश्किल है।
अपने एक शोक सन्देश में आजम खां ने कहा कि स्वर्गीय ओमप्रकाश वाल्मीकि ने दलितों और शोषितों के लिए सदा अपनी लेखनी के जरिये संघर्ष किया। वह समता और समानता के लिए चल रहे दलित मूवमेंट के बहुत बड़े स्तम्भ थे। दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए नगर विकास मंत्री ने शोक-संतप्त परिजनों के प्रति अपनी हार्दिक संवेदना व्यक्त की है।

प्रदेश के नगर विकास एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आज़म खाँ
प्रदेश के नगर विकास एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आज़म खाँ
इसी तरह उत्तर प्रदेश राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के अध्यक्ष (राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त) जुगल किशोर वाल्मीकि ने दलित लेखक व दलित आंदोलन के पुरोधा ओमप्रकाश वाल्मीकि के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ने कहा कि ओमप्रकाश वाल्मीकि के निधन से दलित चिंतन, लेखन, साहित्य एवं आंदोलन के क्षेत्र जो रिक्ति हुई है वह अपूरणीय है। जुगल किशोर ने दिवंगत आत्मा की शांति के लिए कामना की और शोक-संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की।

Leave a Reply