साजिश करने वालों को माकूल जवाब दिया जायेगा: अखिलेश

  • वर्तमान सरकार के अच्छे कार्यों और उपलब्धियों को नकारने का कार्य कुछ ताकतें साजिश के तहत कर रही हैं, जिनका माकूल जवाब दिया जाएगा
 
  • मुख्यमंत्री ने प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृढ़ीकरण के अन्तर्गत 1153 करोड़ रु0 की लागत के 163 चिकित्सालयों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया
 
  • मुख्यमंत्री ने 27 स्वास्थ्य कमिर्यों को मोबाइल फोन वितरण कर 1.44 लाख आशा बहुओं, ए0एन0एम0 तथा प्रभारी चिकित्साधिकारियों को मोबाइल फोन दिए जाने की योजना का शुभारम्भ किया
आशा को सम्मानित करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, साथ में मौजूद स्वास्थ्य मंत्री अहमद हसन, कारागार मंत्री राजेन्द्र चौधरी व अन्य मंत्रीगण
आशा को सम्मानित करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, साथ में मौजूद स्वास्थ्य मंत्री अहमद हसन, कारागार मंत्री राजेन्द्र चौधरी व अन्य मंत्रीगण
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृढ़ीकरण के अन्तर्गत 1153 करोड़ रुपए की लागत के 163 चिकित्सालयों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इस अवसर पर उन्होंने चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि वर्तमान सरकार के सीमित कार्यकाल में जनता की तकलीफों और परेशानियों को दूर करने वाले इस विभाग ने उल्लेखनीय प्रगति की है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार के अच्छे कार्यों और उपलब्धियों को नकारने का कार्य कुछ ताकतें साजिश के तहत कर रही हैं, जिनका माकूल जवाब दिया जाएगा।
मुख्यमंत्री गोमती नगर, लखनऊ स्थित इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में 1078 करोड़ रुपए की योजनाओं के शिलान्यास तथा 75 करोड़ रुपए की लागत के स्वास्थ्य केन्द्रों के भवन निर्माण के लोकार्पण के उपरान्त आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने 27 स्वास्थ्य कमिर्यों को मोबाइल फोन वितरण कर 1.44 लाख आशा बहुओं, ए0एन0एम0 तथा प्रभारी चिकित्साधिकारियों को मोबाइल फोन दिए जाने की योजना का शुभारम्भ किया। उन्होंने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य किसी भी प्रदेश और देश के विकास का पैमाना है। इसके दृष्टिगत प्रदेश में चिकित्सा शिक्षा के लिए एम0बी0बी0एस0 की 500 सीटों का इजाफा किया गया है। उन्होंने कहा कि 108 समाजवादी एम्बुलेन्स सेवा का कार्य पूर्ववर्ती सरकार में रुका हुआ था, सत्ता में आते ही समाजवादी सरकार ने कुछ ही समय में इस योजना की शुरुआत की, जिससे आम जनता को लाभ मिल रहा है। कैंसर इन्टीट्यूट और आई0टी0 सिटी की स्थापना किए जाने की कार्यवाही की गई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों, मजदूरों, अल्पसंख्यकों और महिलाओं के कल्याण व उत्थान के लिए योजनाएं बनाई और उनका क्रियान्वयन किया।
श्री यादव ने कहा कि अस्पतालों में व्यवस्थाएं बेहतर हुई हैं। दवाई व चिकित्सकों की उपलब्धता बढ़ी है। साफ-सफाई का कार्य पहले से ज्यादा ठीक हुआ है। उन्होंने कहा कि चुनाव नजदीक देखकर विपक्षी पार्टियों के लोग सरकार की उपलब्धियों से घबराए हुए हैं और वे नाजायज सवाल खड़े कर रहे हैं। जनता ने समाजवादियों पर भरोसा कर उन्हें सत्ता सौंपी है और इस भरोसे को हर हालत में कायम रखा जाएगा। इसी भरोसे के बल पर उत्तर प्रदेश को खुशहाली के रास्ते पर ले जाने का कार्य जारी रहेगा।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री अहमद हसन ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के लिए मुख्यमंत्री द्वारा दिए गए सहयोग की सराहना करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने जाति, धर्म, सम्प्रदाय से ऊपर उठकर हर वर्ग के लिए कल्याण एवं उत्थान का कार्य किया है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में आजादी से लेकर अब तक मरीजों के लिए लगभग 7000 शैय्या उपलब्ध थीं, किन्तु वर्तमान सरकार के इस सीमित अवधि के कार्यकाल में 7012 शैय्याओं को बढ़ाने का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बेइमानी और भ्रष्टाचार से ऊबकर जनता ने समाजवादी पार्टी की सरकार बनाई। आज फिरकापरस्त ताकतें सिर उठा रही हैं, किन्तु अमन पसन्द लोग समाजवादी सरकार के साथ मजबूती से खड़े हैं। उन्होंने आश्वस्त किया कि चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग में पूरी पारदर्शिता बरती जाएगी। रिश्वत तथा बेइमानी के लिए कोई जगह नहीं होगी।
चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री शंखलाल मांझी ने कहा कि लोकार्पण एवं शिलान्यास की जाने वाली योजनाओं से स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूती मिलेगी। मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी आएगी। चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री नितिन अग्रवाल ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृढ़ीकरण की आवश्यकता लम्बे अरसे से महसूस की जा रही थी, जिसे पूरा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जनता से किए गए वादों को पूरा किया गया है और अब लोगों का विश्वास सरकारी अस्पतालों तथा स्वास्थ्य सेवाओं में बढ़ा है।
उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव जावेद उस्मानी ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं में निरन्तर सुधार हो रहा है। 108 एम्बुलेन्स सेवा के अन्तर्गत लगभग 18 लाख लोग लाभान्वित हुए हैं, जिसमें 10 लाख से अधिक महिलाएं शामिल हैं। उन्होंने कहा कि 102 एम्बुलेन्स सेवा शीघ्र ही शुरु होगी। उन्होंने इस बात पर खुशी जताई कि प्रदेश में नवजात शिशु तथा मातृ मृत्यु दर में कमी आई है।
कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्ज्वलन कर किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने जनरल सर्जरी के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए डा. जगत नारायण सिंह (सोनभद्र), आर्थोपेडिक्स के क्षेत्र में डा. पवन कुमार (अम्बेडकर नगर), गायनोकोलाजिस्ट के क्षेत्र में डा. पी0डी0 गुप्ता (वाराणसी), डा. रचना गुप्ता (मथुरा), डा. मधु सक्सेना (सहारनपुर), नेत्र विशेषज्ञ डा. आर0पी0 सिंह (जालौन) को सम्मानित किया। इसी प्रकार ए0एन0एम0 सन्ध्या दुबे (संत कबीर नगर), अनम्मा पी0एम0 (संत कबीर नगर), विमला देवी (अम्बेडकर नगर), शान्ति राव (कुशीनगर) तथा निर्मला देवी (कौशाम्बी) सहित आशाओं जिनमें कृष्णा देवी (सोनभद्र), रंजना सिंह (सीतापुर), निर्मला गुप्ता (गाजीपुर), लक्ष्मी देवी (मथुरा) तथा मंजू सिंह (मिर्जापुर) को भी सम्मानित किया। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के निदेशक ने धन्यवाद ज्ञापित किया।
उल्लेखनीय है कि प्रदेश के 14 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों और 35 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के भवनों को लोकार्पण किया गया है। साथ ही, एक 200 शैय्या के बाल महिला चिकित्सालय (लखनऊ), एक 100 शैय्या के संयुक्त चिकित्सालय (हरदोई) सहित 39 जिला महिला चिकित्सालयों पर 100 शैय्या के मैटरनिटी विंग, 7 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर 50 शैय्या के मैटरनिटी विंग, 62 सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर 30 शैय्या के मैटरनिटी विंग, एक सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र और 3 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के नवीन भवनों का शिलान्यास किया गया। इस प्रकार 40 स्वास्थ्य भवनों का लोकार्पण और 114 भवनों का शिलान्यास किया गया। शिलान्यास से शैय्याओं की संख्या में 6452 और लोकार्पण किए गए भवनों के माध्यम से 560 शैय्याओं में वृद्धि होगी। उक्त समस्त योजनाएं 1153 करोड़ रुपए की लागत की हैं।
इस अवसर पर कृषि मंत्री आनन्द सिंह, कारागार मंत्री राजेन्द्र चौधरी, पंचायती राज मंत्री बलराम यादव, खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री कैलाश यादव, जन्तु उद्यान राज्यमंत्री डा. एस0पी0 यादव, पूर्व मंत्री भगवती सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, केजीएमयू के कुलपति डा. डी0के0 गुप्ता, प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य प्रवीर कुमार, वरिष्ठ अधिकारी, भारी संख्या में स्वास्थ्यकर्मी, चिकित्सक एवं गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

Leave a Reply