सवा अरब भारतीयों पर भारी पड़ी एफडीआई

सवा अरब भारतीयों पर भारी पड़ी एफडीआई

एफडीआई को लेकर राज्य सभा में भी तीखी बहस के बाद हुई वोटिंग में सरकार ही जीत गई। एफडीआई के पक्ष में 123 और विपक्ष में 109 मत पड़े। समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने राज्य सभा से भी वॉक आउट किया।

वोटिंग से पहले वाणिज्य मंत्री आनन्द शर्मा और विपक्ष के भाजपा नेता अरुण जेटली में बहस हुई, जिससे भाजपा के सांसदों ने हंगामा शुरू कर दिया, जिससे राज्य सभा की की कार्यवाही कुछ देर स्थगित रही। बाद में विपक्ष की ओर से सपा, बसपा, द्रमुक और राकांपा की आलोचना करते हुए कहा गया कि सरकार लोक सभा में बहुमत के हिसाब से 272 मत नहीं पा सकी, फिर भी अल्पमत की सरकार के फैसले से देश को नुकसान उठाना पड़ रहा है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने एफडीआई पर बात करने की बजाये भाजपा की बात की। उन्होंने भाजपा पर कटाक्ष करते हुए जमकर आलोचना की और वोटिंग में भाग लिया। एफडीआई के पक्ष में 123 और विपक्ष में 109 मत पड़े, जिससे एफडीआई लागू होने का रास्ता साफ़ हो गया। समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने राज्य सभा में भी मतदान में भाग नहीं लिया। सवा अरब लोगों के भाग्य का फैसला 123 सांसदों ने पल भर में सूना दिया।

 

Leave a Reply