सरकार खेलों को बढ़ावा देने के प्रयास कर रही है: मुख्यमंत्री

 
  • मुख्यमंत्री ने हॉकी इण्डिया लीग के अन्तर्गत यू0पी0 विजार्ड्स और रांची राइनोज के बीच हुए मैच को देखा 
 
  • मैन ऑफ द मैच का अवार्ड रांची राइनोज के खिलाड़ी मॉरिशस चीफ को मुख्यमंत्री ने दिया
मैन ऑफ द मैच का अवार्ड रांची राइनोज के खिलाड़ी मॉरिशस चीफ को देते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।
मैन ऑफ द मैच का अवार्ड रांची राइनोज के खिलाड़ी मॉरिशस चीफ को देते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार खेलों को बढ़ावा देने तथा खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के गम्भीरता से प्रयास कर रही है। खिलाड़ियों को सुविधाएं मुहैया कराने में प्रदेश सरकार ने महत्वपूर्ण पहल की है और कई महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं। राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के साथ-साथ ओलम्पिक खेलों में पदक जीतने वाले खिलाडि़यों को प्रोत्साहन स्वरूप धनराशि दी गई है।
मुख्यमंत्री ने ये बात आज लखनऊ स्थित गुरुगोविंद सिंह स्पोर्ट्स कॉलेज में हीरो हॉकी इण्डिया लीग के दूसरे चरण के अन्तर्गत यू0पी0 विजार्ड्स और रांची राइनोज के बीच हुए मैच के अवसर पर कही। यह मैच रांची राइनोज ने 2-1 से जीता। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर मैन ऑफ द मैच का अवार्ड रांची राइनोज के खिलाड़ी मॉरिशस चीफ को दिया।
श्री यादव ने कहा कि भारतीय हॉकी का शानदार इतिहास रहा है। उन्होंने उम्मीद जाहिर की कि हॉकी इण्डिया लीग के आयोजन से प्रदेश व देश में हॉकी की लोकप्रियता में बढ़ोत्तरी होगी और ज्यादा से ज्यादा प्रतिभाशाली युवा इस खेल को अपनाने के लिए प्रेरित होंगे। इससे आने वाले समय में अन्तर्राष्ट्रीय हॉकी प्रतियोगिताओं में देश का प्रदर्शन और बेहतर बनेगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश ने भारतीय हॉकी टीम को अनेक होनहार खिलाड़ी दिए हैं, जिन्होंने अपने बेहतरीन प्रदर्शन से पूरी दुनिया में देश व प्रदेश का नाम रौशन किया है। यहां तक कि हॉकी के महान जादूगर मेजर ध्यानचन्द भी उत्तर प्रदेश के ही थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा खेल के क्षेत्र में किए जा रहे प्रयासों के फलस्वरूप उत्तर प्रदेश और लखनऊ में राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताएं आयोजित की जाने लगी हैं। खेलों को बढ़ावा देने की दिशा में यह एक उपलब्धि है।
इस मौके पर श्री यादव ने कहा कि राज्य सरकार खेल सहित विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य कर रही है। गांव, गरीब, नौजवान, किसान, महिलाओं तथा अल्पसंख्यकों की बेहतरी के लिए कई फैसले लिए गए हैं, जिनका सकारात्मक प्रभाव दिखाई पड़ रहा है। बिजली के क्षेत्र में नए कारखानों को लगाए जाने की चर्चा करते हुए उन्होंने आशा व्यक्त की कि राज्य सरकार के प्रयासों के फलस्वरूप वर्ष 2016 से शहरों को 24 घण्टे एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 18 घण्टे विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित हो सकेगी। इस अवसर पर खेलकूद एवं युवा कल्याण मंत्री नारद राय समेत अन्य जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी, सहारा इण्डिया परिवार के सदस्य, हॉकी इण्डिया लीग के पदाधिकारीगण, गणमान्य नागरिक, मीडियाकर्मी, खिलाड़ी एवं खेल प्रेमी तथा भारी संख्या में दर्शकगण उपस्थित थे।

Leave a Reply