समीक्षा बैठक में स्टीमेट तत्काल उपलब्ध कराने के निर्देश

  • डीएम, सीडीओ ने की ब्लाक तथा स्थानीय निकायों के निर्माण कार्यो की समीक्षा
समीक्षा बैठक में उपस्थित डीएम व सीडीओ
समीक्षा बैठक में उपस्थित डीएम व सीडीओ

बदायूं के स्थानीय निकाय एवं ब्लाकों से सड़क निर्माण कार्यों के प्रस्ताव की तकनीकी स्वीकृति अब तक प्राप्त न होने पर जिलाधिकारी सीपी त्रिपाठी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए अविलम्व तकनीकी स्वीकृति प्राप्त कर स्टीमेट जिला परिषद को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।
श्री त्रिपाठी आज कलेक्ट्रेट स्थित सभा कक्ष में ब्लाक तथा स्थानीय निकाय स्तर पर कराए जाने वाले निर्माण कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। ज्ञातव्य हो कि ब्लाक तथा स्थानीय निकाय स्तर पर सड़क निर्माण हेतु तकनीकी स्वीकृति के पश्चात स्टीमेट जमा करने पर पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि से जिला पंचायत  द्वारा धनराशि जारी की जाना है।
जिलाधिकारी ने समस्त खण्ड विकास अधिकारियों को ग्रामीण अभियन्त्रण विभाग तथा अधिशासी अधिकारियों को लोक निर्माण विभाग के अभियन्ताओं से तकनीकी स्वीकृति प्राप्त कर अतिशीघ्र स्टीमेट जिला पंचायत में जमा करने के निर्देश दिए है जिससे धनराशि जारी होकर सड़क निर्माण कार्य शुरू हो सकें।
इसके अलावा जिलाधिकारी ने लगभग आधा दर्जन तकनीकी विभागों के अभियन्ताओं को निर्देश दिए हैं कि वह अपनी बड़ी परियोजनाओं की सूची मुख्य विकास अधिकारी उदयराज सिंह के कार्यालय में उपलब्ध करा दें जिससे भविष्य में यदि माननीय मुख्यमंत्री का कार्यक्रम जनपद में हो तो उन परियोजनाओं का शिलान्यास अथवा लोकार्पण कराया जा सके। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी उदयराज सिंह, एसपी सिटी एमएस चौहान, अपर जिलाधिकारी प्रशासन मनोज कुमार, जिला विकास अधिकारी प्रदीप कुमार सोम, डीआरडीए के परियोजना निदेशक रामरक्षपाल सिह सहित तकनीकी विभागों के अभियन्तागण, बीडीओ तथा लोकलवाडी के अधिशासी अधिकारी मौजूद रहे।
                

ओवर ब्रिज निर्माण में बाधक अतिक्रमण स्वयं हटाएं मकान, दुकान स्वामी

बदायूं के जिलाधिकारी सीपी त्रिपाठी ने ओवर ब्रिज में बाधक अतिक्रमण को गम्भीरता से लेते हुए नगर मजिस्ट्रेट निधि श्रीवास्तव सहित विद्युत विभाग के अभियन्ताओं, नगर पालिका परिषद के अधिशासी अधिकारी एवं ओवर ब्रिज निर्माण कार्यदायी संस्था के अभियन्ताओं को मौके पर भेजकर चिन्हांकन करने के निर्देश दिए हैं।
ज्ञातव्य हो कि रेलवे क्रासिंग पर निर्माणाधीन ओवर ब्रिज अतिक्रमण तथा विद्युत लाइनें शिफ्ट न हो पाने के कारण निर्माण कार्य में तेजी नहीं आ पा रही है। जिलाधिकारी ने इसी को दृष्टिगत रखते हुए अधिकारियों को मौके पर भेजकर अतिक्रमण पर पेंट से निशान लगाने के निर्देश दिए हैं जिससे मकान तथा दुकान स्वामी अतिक्रमण स्वयं हटा सकें। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को यह भी स्पष्ट निर्देश दिए हैं जितने स्थान की आवश्यकता हो उसी जगह पर निशान लगाए जाएं और अनावश्यक रूप से किसी दुकान अथवा मकान स्वामी को परेशान न किया जाए।

Leave a Reply