समाजवादी सरकार भेदभाव के बिना कार्य करती है: सीएम

 
  • मुख्यमंत्री ने ‘102’ नेशनल एम्बुलेंस सेवा का शुभारम्भ किया
 
  • मुख्यमंत्री ने सूचना विभाग द्वारा प्रकाशित वार्षिकी उत्तर प्रदेश-2013 एवं सूचना डायरी-2014 का विमोचन भी किया
  • समाजवादी एम्बुलेन्स सेवा की सफलता के बाद ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सेवा गरीब जनता को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने की दिशा में एक ओर बड़ा कदम: मुख्यमंत्री 
 
समाजवादी एम्बुलेन्स सेवा की सफलता के बाद ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सेवा का शुभारंभ करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
समाजवादी एम्बुलेन्स सेवा की सफलता के बाद ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सेवा का शुभारंभ करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि समाजवादी सरकार राज्य को विकास के रास्ते पर लगातार आगे ले जा रही है। प्रदेश सरकार ने अपनी नीतियों एवं कार्यक्रमों के माध्यम से यह कर दिखाया है। राज्य सरकार अपनी योजनाओं के जरिए जनता का पैसा जनता को वापस करने का काम कर रही है। राज्य सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं के माध्यम से जितनी निःशुल्क सुविधाएं प्रदेशवासियों को दी जा रही हैं, उतनी सुविधाएं देश की किसी भी अन्य प्रदेश सरकार द्वारा अपने यहां मुहैया नहीं कराई जा रहीं।
मुख्यमंत्री आज लखनऊ में अपने सरकारी आवास पर ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सेवा के शुभारम्भ के अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। श्री यादव ने ‘102’ नम्बर पर फोन कर इस सेवा को प्रदेश की जनता के लिए समर्पित किया। उन्होंने ड्राइवर मोहम्मद लुकमान को एम्बुलेंस की प्रतीकात्मक चाभी तथा इमरजेन्सी मेडिकल टेक्नीशियन दुर्गा चरण प्रजापति को फर्स्ट एड किट प्रदान किया। उन्होंने हरी झण्डी दिखाकर ‘102’ नेशनल एम्बुलेंस वाहनों को जनपदों के लिए रवाना किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने सूचना विभाग द्वारा प्रकाशित वार्षिकी उत्तर प्रदेश-2013 एवं सूचना डायरी-2014 का विमोचन भी किया।
श्री यादव ने कहा कि ‘108’ समाजवादी एम्बुलेन्स सेवा की सफलता के बाद ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सेवा की शुरूआत प्रदेश की गरीब जनता को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने की दिशा में एक ओर बड़ा कदम है। यह सुविधा गांव एवं शहर सभी क्षेत्रों में प्रसूता माँ को अस्पताल ले जाने एवं उसे व उसके नवजात बच्चे को अस्पताल से वापस घर छोड़ने के लिए 24 घण्टे निःशुल्क उपलब्ध रहेगी। माँ एवं उसके नवजात शिशु द्वारा अगले एक माह तक चिकित्सीय आवश्यकता पड़ने पर इस सुविधा का लाभ लिया जा सकता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में जब ‘108’ समाजवादी एम्बुलेन्स सेवा की शुरूआत की गई थी, उस समय प्रदेश में इस तरह की कोई भी एम्बुलेन्स सेवा उपलब्ध नहीं थी। ‘108’ समाजवादी एम्बुलेन्स सेवा के माध्यम से गरीबों को बहुत लाभ मिल रहा है तथा इसके द्वारा बड़ी संख्या में लोगों की जान बचाई गई है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि ‘108’ समाजवादी एम्बुलेन्स सेवा की भांति ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सेवा भी सफलता के मानदण्ड स्थापित करेगी तथा इससे प्रदेश के स्वास्थ्य सूचकांकों में सुधार होगा।
 श्री यादव ने स्वास्थ्य विभाग की उपलब्धियों की तारीफ करते हुए इसके लिए स्वास्थ्य मंत्री अहमद हसन को बधाई दी। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार ने प्रदेश में रूकी हुई योजनाओं को चालू करने का काम किया है। एम्बुलेन्स सेवा एक बड़ी योजना थी, जो रूकी पड़ी थी। स्वास्थ्य विभाग की तमाम उपलब्धियों में ‘108’ समाजवादी स्वास्थ्य सेवा सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। प्रदेश सरकार ने निःशुल्क दवाई, एम्बुलेन्स, गम्भीर बीमारी का इलाज, एक्स-रे आदि सुविधाएं उपलब्ध कराई हैं। एम0बी0बी0एस0 की 500 सीटों की वृद्धि भी राज्य सरकार के प्रयासों से संभव हुई है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएं सफलतापूर्वक चलाई जा रही है। उन्होंने कन्या विद्या धन, बेरोजगारी भत्ता, हमारी बेटी उसका कल योजनाओं का उल्लेख करते हुए यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश में एक साल में विद्यार्थियों को 15 लाख लैपटॉप निःशुल्क वितरित किए गए। इसके विपरीत अन्य राज्यों में पांच साल की अवधि में भी इतने लैपटॉप वितरित नहीं किए जा सके। इन योजनाओं की नकल अन्य प्रदेश भी कर रहे हैं, लेकिन सफलतापूर्वक लागू नहीं कर पा रहे। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार बगैर किसी भेदभाव के कार्य करती है। विधायक निधि से जरूरतमंदों के इलाज के लिए 25 लाख रुपए तक की मदद का प्राविधान इसका उदाहरण है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि दोनों एम्बुलेंस सेवाओं के माध्यम से न केवल लोगों को चिकित्सा की बेहतर सुविधा उपलब्ध हुई, बल्कि बडे़ पैमाने पर रोजगार का सृजन भी हुआ। उन्होंने कहा कि इन योजनाओं के माध्यम से लगभग 15 हजार नौकरियों के सृजन की सम्भावना है। उन्होंने लेटर ऑफ इंटेन्ट मिलने के 15 दिन के अन्दर सेवा शुरू करने के लिए ‘102’ नेशनल एम्बुलेन्स सेवा की सेवा प्रदाता कम्पनी के प्रमुख जी.वी.के. रेड्डी के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने श्रीनगर, उत्तराखण्ड में प्रदेश की जल विद्युत परियोजना को पूरा करने तथा मुम्बई में नवीन एयरपोर्ट टर्मिनल के निर्माण के लिए श्री रेड्डी को बधाई भी दी।
चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अहमद हसन ने अपने सम्बोधन में कहा कि राज्य सरकार जनता के कल्याण के लिए कार्य कर रही है। सरकार का संकल्प है कि राज्य हर क्षेत्र में तरक्की करे और यहां के लोग खुशहाल हों। सरकारी अस्पतालों में निःशुल्क एक्स-रे सुविधा प्रदान किए जाने सम्बन्धी प्रदेश सरकार के फैसले का व्यापक स्वागत हुआ है। उन्होंने कहा कि इस एम्बुलेंस सेवा के तहत आगामी 31 मार्च तक लगभग एक हजार एम्बुलेंस संचालित होने लगेंगी। इसके अलावा 30 अप्रैल तक लगभग एक हजार अतिरिक्त एम्बुलेंस भी इस सेवा से जुड़ जाएंगी।
चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री शंखलाल मांझी ने कहा कि सीमित अवधि में वर्तमान सरकार द्वारा सरकारी अस्पतालों में सात हजार शैय्याओं को बढ़ाने का कार्य किया जा रहा है। प्रदेश में चिकित्सकों की कमी के दृष्टिगत एम0बी0बी0एस0 की पढ़ाई के लिए 500 सीटों की वृद्धि की गई है।
प्रमुख सचिव स्वास्थ्य प्रवीर कुमार ने स्वागत सम्बोधन में बताया कि मातृ मृत्यु दर एवं शिशु मृत्यु दर में कमी लाने के लिए संस्थागत प्रसव आवश्यक है। यह एम्बुलेंस सेवा इस दिशा में महत्वपूर्ण योगदान प्रदान करेगी। उन्होंने बताया कि एम्बुलेंस में जी0पी0आर0एस0 सुविधा उपलब्ध रहेगी। 24 घंटे संचालित होने वाले सेन्ट्रलाइज्ड कॉल सेण्टर ‘102’ पर कॉल करने के उपरान्त एम्बुलेंस शहरी क्षेत्रों में 20 मिनट तथा ग्रामीण क्षेत्रों में 30 मिनट के अन्दर लाभार्थी के पास पहुंचेगी। एम्बुलेंस में बेसिक उपकरण, प्राथमिक उपचार किट व एक इमरजेन्सी मेडिकल अटेंडेंट की व्यवस्था की गई है।
राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, उत्तर प्रदेश के मिशन निदेशक अमित घोष द्वारा धन्यवाद ज्ञापित किया गया। इस मौके पर सिटी मान्टेसरी स्कूल के बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया। इस अवसर पर कारागार मंत्री राजेन्द्र चौधरी, खेलकूद एवं युवा कल्याण मंत्री नारद राय, अध्यक्ष राज्य महिला आयोग जरीना उस्मानी, पूर्व मंत्री भगवती सिंह एवं डा. अशोक बाजपेई सहित अन्य जनप्रतिनिधि, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री राकेश गर्ग, मुख्यमंत्री के परामर्शी आमोद कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply