सबसे बड़ा मजहबी जमावड़ा कुंभ में होता है: आजम

नगर एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आजम खान
नगर एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आजम खान

नरेंद्र मोदी का आज देहरादून में दिया गया यह बयान कि “मुसलमानों का सबसे बड़ा जमावड़ा मक्का में होता है और उन्हें मुसलमानों की यह एक-जुटता देख कर अच्छा लगता है” पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए प्रदेश के नगर एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आजम खान ने कहा कि मुसलमानों को खुश करने के लिए श्री मोदी तुष्टिकरण की सारी सीमायें लांघते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि श्री मोदी शायद यह भूल गए हैं कि सबसे बड़ा मजहबी जमावड़ा उत्तर प्रदेश के इलाहबाद शहर में होने वाले कुम्भ मेले में होता है, जहाँ रोजाना 50 लाख से एक करोड़ श्रद्दालु एक साथ जमा होकर पूजा-अर्चना और गंगा स्नान करते हैं। उन्होंने कहा कि इस बार संपन्न कुम्भ मेले के अंतिम दिन लगभग तीन करोड़ श्रद्धालुओं ने एक साथ जमा होकर पूजा-अर्चना की और गंगा स्नान किया।

आजम खान ने कहा कि सवाल यह नहीं है कि किस धर्म के मानने वाले कितने लोग कहाँ जमा होते हैं, बल्कि बुनियादी सवाल कयादत का यह है कि किसकी कयादत में सभी मजहब के लोग सुरक्षित रहते हैं। उन्होंने कहा कि मोदी जी को जरा पीछे मुड़ कर यह देखना चाहिए कि उनकी ही कयादत में उनके ही स्टेट में चल रही सरकार में कितनी बड़ी तादाद में मुसलमानों का बेरहमी से कत्ल-ए-आम किया गया था और इस तरह से मजहबों के बीच सबसे ऊँची दीवार खड़ी करने की कोशिश मोदी जी द्वारा की गयी थी।  इस हकीकत पर भी मोदी जी को विचार करना चाहिए और इस पर उनका जवाब आना चाहिए कि इस बारे में उनका क्या कहना है।

Leave a Reply