श्री राम पर की गई निंदनीय टिप्पणी के प्रकरण ने तूल पकड़ा

  • मोदी सेना की राष्ट्रीय कार्य समिति सदस्य को मिली जान से मारने की धमकी
श्री राम कालोनी में भगवान श्री राम और माँ सीता पर निंदनीय टिप्पणी करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग करते तमाम संगठनों के पदाधिकारी
श्री राम कालोनी में भगवान श्री राम और माँ सीता पर निंदनीय टिप्पणी करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग करते तमाम संगठनों के पदाधिकारी

फेसबुक पर भगवान श्री राम और माँ सीता पर निंदनीय टिप्पणी करने वाले व्यक्ति को थाने से जमानत देने को लेकर कई संगठनों के पदाधिकारियों ने एकजुट होकर आज पुलिस-प्रशासन की कड़ी आलोचना की और तत्काल कड़ी कार्रवाई न करने पर चुनाव के बहिष्कार के साथ रविवार से धरना-प्रदर्शन की चेतावनी भी है, वहीं मोदी सेना की राष्ट्रीय कार्य समिति के सदस्य को फोन पर इसी प्रकरण में जान से मारने की धमकी दी गई है। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल मुकदमा पंजीकृत कर लिया है।

उल्लेखनीय है कि बदायूं जिले के थाना सिविल लाइन क्षेत्र में रहने वाले और डायट में प्रवक्ता पद पर तैनात हरीश दिवाकर ने अपनी फेसबुक वाल पर भगवान श्रीराम के बारे में अशोभनीय व निंदनीय टिप्पणी की थी, जिसकी शिकायत 28 मार्च को उज्ज्वल नाम के व्यक्ति ने पुलिस से की थी। पुलिस ने शिकायत को गंभीरता से लेते हुए डायट के प्रवक्ता को तत्काल हिरासत में ले लिया था। एफआईआर दर्ज कर आरोपी को कोर्ट में पेश करने की बजाये सिविल लाइन थाना पुलिस ने उसे अगले दिन थाने से जमानत देकर छोड़ दिया।

सूत्रों का कहना है कि आरोपी एक सपा नेता का सगा रिश्तेदार है, जिससे पुलिस ने दबाव में उसे थाने से ही जमानत दे दी। पुलिस की उदारता को लेकर ही कुछ संगठनों के पदाधिकारी और कार्यकर्ता आक्रोशित हैं। श्री राम कालोनी में आज भारतीय जनकल्याण मिशन धर्मार्थ ट्रष्ट के संस्थापक पंडित मुमुक्षु कृष्ण जी महाराज ने प्रेस वार्ता करते हुए कहा कि हरीश दिवाकर ने फेसबुक पर पोस्ट शेयर की थी। मूल पोस्ट राजू प्रसाद नास्तिक ने डाली थी, जिस पर सत्यवीर सिंह नाम के यूजर ने उत्साह वर्धन करने वाला कमेंट किया था, इसलिए इन तीनों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई होना चाहिए। उन्होंने पुलिस की कार्यप्रणाली की आलोचना करते हुए और तुष्टिकरण की निति अपनाने का आरोप लगाते कहा कि रविवार तक तीनों को गिरफ्तार कर जेल नहीं भेजा गया, तो धरना प्रदर्शन किया जायेगा और चुनाव का भी बहिष्कार किया जायेगा। इस अवसर पर हिंदू क्रांति दल के अध्यक्ष अशोक तोमर, मोदी सेना के राष्ट्रीय कार्य समिति सदस्य मुकेश पटेल, आज़ाद हिंद वाहिनी के पवन शंखधार, संस्कार भारती के कामेश पाठक, सनातन धर्म सभा के आचार्य गुरु चरण मिश्रा और राधा-कृष्ण सेवा समिति के ओमकार नाथ शर्मा के साथ अन्य तमाम लोग उपस्थित रहे।

उधर मोदी सेना के राष्ट्रीय कार्य समिति सदस्य मुकेश पटेल के मोबाइल पर किसी अज्ञात व्यक्ति का फोन आया, उसने इस प्रकरण से दूर रहने और न मानने पर जान से मारने की धमकी दी है। मुकेश पटेल की तहरीर पर सिविल लाइन थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।
माना जा रहा है कि चुनावी माहौल में यह प्रकरण तूल पकड़ सकता है, जिससे प्रशासन की मुश्किलें बढ़ने के साथ समाजवादी पार्टी को नुकसान हो सकता है।

संबंधित न्यूज पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

श्रीराम के बारे में निंदनीय टिप्पणी करने वाला गिरफ्तार

अशोभनीय टिप्पणी को लेकर युवा आहत, युवक गिरफ्तार

Leave a Reply