शौचालय निर्माण का लक्ष्य पूरा न करने पर गिरी गाज

समीक्षा करते जिलाधिकारी व सीडीओ
समीक्षा करते जिलाधिकारी व सीडीओ

बदायूं के जिलाधिकारी सीपी त्रिपाठी ने शौचालय निर्माण में शिथिलता बरतने और आदेशों की अवहेलना करने वाले ब्लाक सालारपुर के ग्राम बनेई के सचिव को तत्काल प्रभाव से निलम्वित करने के निर्देश देते हुए अन्य सचिवों को 11 दिसम्बर तक की मोहलत देते हुए सुधार की चेतावनी दी है।
श्री त्रिपाठी और मुख्य विकास अधिकारी उदयराज सिंह आज कलेक्ट्रेट स्थित सभा कक्ष में पंचायत राज विभाग द्वारा बनाए जा रहे स्वच्छ शौचालयों के निर्माण कार्यो की समीक्षा कर रहे थे। समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने पाया कि छः ब्लाकों के सात ग्राम पंचायतों में सबसे अधिक खराब प्रगति ब्लाक सालारपुर की ग्राम पंचायत बनेई की है, जिसमें 390 के सापेक्ष मात्र 230 शौचालयों का निर्माण अब तक हुआ है, जो लक्ष्य का 58.97 प्रतिशत ही है। इतना देखते ही जिलाधिकारी के तेवर सख्त हो गए और उन्होंने बनेई के सचिव श्याम लाल को तत्काल प्रभाव से निलम्वित करने के निर्देश दिए हैं।
समीक्षा में ब्लाक सालारपुर की ग्राम पंचायत चन्दौरा में 310 के सापेक्ष 204 शौचालयों का निर्माण 65.81 प्रतिशत, ब्लाक बिसौली की ग्राम पंचायत रानेट गोविन्दपुर में 214 के सापेक्ष 158 73.83 प्रतिशत, ब्लाक उझानी की ग्राम पंचायत रियोनईया में 1283 के सापेक्ष 965 75.21 प्रतिशत, ब्लाक जगत में की ग्राम पंचायत कुण्डेली में 423 के सापेक्ष 350 82.74 प्रतिशत, ब्लाक कादरचौक की ग्राम पंचायत मुगर्रा टटेई में 503 के सापेक्ष 450 89.46 प्रतिशत तथा ब्लाक दहगवां की ग्राम पंचायत भोजीपुरा पवाई में 301 के लक्ष्य के सापेक्ष 270 89.70 प्रतिशत शौचालयों का अब तक निर्माण हो पाया है। जिलाधिकारी ने सम्बंधित एडीओ पंचायत और ग्राम सचिवों को चेतावनी दी है कि यदि 11 दिसम्बर तक शतप्रतिशत प्रगति में सुधार नहीं आया तो एक साथ सभी शिथिलता बरतने वालों को दण्डित किया जाएगा। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी उदयराज सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन मनोज कुमार, प्रभारी जिला पंचायत राज अधिकारी राजेश यादव सहित एडीओ पंचायत और ग्राम सचिव मौजूद रहे।

Leave a Reply