वो पहले लड़कियों को अपने प्रेम में फांसता है और फिर …

वो पहले लड़कियों को अपने प्रेम में फांसता है और फिर ...
वो पहले लड़कियों को अपने प्रेम में फांसता है और फिर …

उसने एक भोली लड़की को अपने प्रेम जाल में फांसा। एक आदर्श प्रेमी की तरह लड़की को तमाम तरह के हसीन सपने दिखाए। उसके एक-एक शब्द पर अटूट विश्वास करते हुए लड़की ने स्वयं को तन और मन से समर्पित कर दिया, लेकिन उसने दो-तीन दिन तक मस्ती कर लड़की को एक आदमी के हवाले कर दिया। लड़की को बेच कर वो फिर एक और शिकार की तलाश में जुट गया और फिर सफल हो गया। पिछली लड़की की तरह अगली को भी दो-तीन दिन की मस्ती करा कर बेच दिया और रूपये जेब में रख कर फिर नये शिकार की तलाश में जुट गया। यह किसी मुंबईया फिल्म की कहानी के अंश नहीं है, बल्कि भयावह हकीकत है, लेकिन सब कुछ जानकारी में होने के बावजूद पुलिस मूक दर्शक बनी हुई है।

संभल जिले में स्थित रजपुरा थाना क्षेत्र के एक गाँव का रहने वाला शातिर दिमाग इंसान मूल रूप से कार ड्राइवर है। विवाहित है और तीन बच्चों का पिता भी है, इस सब के साथ यह युवक नाबालिग और भोली लडकियों को अपने प्रेम जाल में फांस लेता है, इसके बाद उन्हें भगा ले जाता है और फिर लड़की को मोटी रकम वसूल कर किसी के हाथ बेच देता है। ऐसी कई लड़कियों को अब तक यह युवक बेच चुका है। गैर जनपद से लाकर यह युवक एक लड़की को बदायूं जिले में स्थित इस्लामनगर थाना क्षेत्र के कस्बा नूरपुर पिनौनी में पिछले दिनों बेच चुका है। इसके बाद यह युवक यहीं एक मकान में किराये पर रहने लगा और फिर यहीं की एक लड़की को अपने प्रेम जाल में फांस लिया। बताया जाता है कि पिछली 23 अप्रैल को यह युवक नूरपुर पिनौनी की एक नाबालिग लड़की को लेकर फरार हो गया।

लड़की के पिता ने इस्लामनगर थाना पुलिस को पूरा मामला बताते हुए तहरीर दी और लड़की को बरामद कराने की मांग की, तो पुलिस ने पीड़ित पिता की तहरीर तक नहीं ली। चूँकि पीड़ित पक्ष दलित वर्ग का है और लड़कियों को अपने प्रेम में फांस कर बेचने का धंधा करने वाला यादव है, सो पीड़ित पिता का यह भी आरोप है पुलिस जान कर आरोपी को बचा रही है और वो उनकी लड़की को कहीं दूर बेच देगा। पीड़ित पिता ने बताया कि वह जिला मुख्यालय पर अपनी लड़की की बरामदगी की मांग को लेकर अनशन करेगा।

Leave a Reply