सनातनी परंपरा से हुआ कृपालु जी का तेरहवीं संस्कार

जगद्गुरु कृपालु जी महाराज के समाधि स्थल को नमन करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
जगद्गुरु कृपालु जी महाराज के समाधि स्थल को नमन करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

धर्म-अध्यात्म, प्रेम और करुणा की पताका समूचे संसार में फहराने वाले जगद्गुरु कृपालु जी महाराज की आज तेरहवीं आयोजित हुई, जिसमें परिजनों के साथ ट्रस्ट के कार्यकर्ता तन, मन, धन से जुटे नज़र आये। प्रतापगढ़ के मनगढ़ में हुए भव्य भोज में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ देश-विदेश से आये हजारों लोगों ने भाग लिया।

सनातन परंपरा के तहत विधि-विधान पूर्वक सभी कार्य किये गये। मनगढ़ के भक्तिधाम में पहले ब्राह्माणों को मंत्रोच्चार के साथ बैठाया गया, फिर उनकी वंदना की गई। ब्राह्मणों को भोज के पश्चात 51 हजार नकद, सोने की कंठी, सोने की गिन्नी, एक अंगूठी, चांदी का बर्तन सेट, एक-एक मोबाइल सेट, एलसीडी टीवी, अलमारी, बिस्तर, पंखा और वस्त्र के साथ अन्न दान में दिया गया। ब्रह्म भोज में अधिकाँश रिश्तेदार ही बैठाए गये थे। इस अवसर पर कृपालु जी के पौत्र रामानंद, आचार्य पारस नाथ तिवारी, उनकी बेटियां विशाखा, श्यामा त्रिपाठी, कृष्णा त्रिपाठी, पुत्र धनश्याम और बाल कृष्ण, सहित मनगढ़ ट्रस्ट के पदाधिकारी प्रमुख कर्ता-धर्ता रहे। इस मौके पर पधारे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि जगद्गुरु कृपालु जी महाराज की स्मृतियों को जीवंत रखने के लिए प्रदेश की सरकार हर संभव मदद करेगी। उनके साथ विधान परिषद सदस्य अक्षय प्रताप सिंह गोपाल जी, विधायक विनोद कुमार एवं नागेन्द्र सिंह उर्फ मुन्ना, पूर्व सांसद सी0एन0 सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधि, मण्डलायुक्त इलाहाबाद कुमार कमलेश, जिलाधिकारी प्रतापगढ़ विद्या भूषण समेत प्रशासन एवं पुलिस के अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।

Leave a Reply