विकास के लिए भाईचारा अत्यन्त आवश्यक: मुख्यमंत्री

  • कौशल विकास योजना के तहत 15 दिनों में लगभग 06 लाख नौजवानों तथा लगभग 50 कम्पनियों ने प्रशिक्षण हेतु पंजीयन कराया
 
  • शहीद मेजर पुष्पेन्द्र देव सिंह चैरिटेबल ट्रस्ट को 10 लाख रु0 देने की घोषणा
शहीद मेजर पुष्पेन्द्र देव सिंह चैरिटेबल ट्रस्ट के कार्यक्रम में बच्चों को गिफ्ट देते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
शहीद मेजर पुष्पेन्द्र देव सिंह चैरिटेबल ट्रस्ट के कार्यक्रम में बच्चों को गिफ्ट देते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि देश एवं प्रदेश के विकास के लिए समाज में भाईचारा कायम रहना अत्यन्त आवश्यक है। उन्होंने कहा कि कुछ ताकतें समाज का भाईचारा बिगाड़ने का लगातार प्रयास कर रही हैं, जिसे नागरिकों की सजगता से ही रोका जा सकता है। उन्होंने कहा कि साम्प्रदायिक होना बहुत आसान है, लेकिन धर्म निरपेक्ष होना कठिन है।
मुख्यमंत्री आज लखनऊ में संगीत नाटक अकादमी में शहीद मेजर पुष्पेन्द्र देव सिंह चैरिटेबल ट्रस्ट एवं उदय भारत सामाजिक सेवा संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित ‘एक पहल’ सांस्कृतिक कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने संस्था के कार्यकर्ताओं द्वारा आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं विशेष रूप से प्रस्तुत नाट्य ‘भाईचारा’ की सराहना करते हुए कहा कि समाज को इस नाटक के संदेश को ग्रहण करने की आवश्यकता है।
श्री यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश मूलतः ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर आधारित राज्य है। वर्तमान राज्य सरकार प्रदेश के सभी क्षेत्रों विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक से अधिक विकास के लिए प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान में सर्वाधिक नौजवान आबादी उपलब्ध है। इसमें भी उत्तर प्रदेश में नौजवानों की संख्या अधिक है। युवाओं को दक्ष बनाए जाने की आवश्यकता पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि कुशल एवं प्रशिक्षित नौजवान प्रदेश व देश के विकास में अपना सक्रिय योगदान प्रदान कर सकते हैं। कौशल विकास योजना की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि लगभग 05 वर्षों से यह योजना तत्कालीन राज्य सरकार के असहयोगात्मक रवैये के कारण ठप पड़ी थी, जिसे वर्तमान सरकार गम्भीरता से संचालित कर प्रदेश के नौजवानों को आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने बताया 15 दिनों में लगभग 06 लाख नौजवानों तथा लगभग 50 कम्पनियों ने प्रशिक्षण हेतु पंजीयन कराया है।
मुख्यमंत्री ने राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे विकास कार्यों एवं जनकल्याणकारी कार्यक्रमों की चर्चा करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश बहुत बड़ा राज्य है, इसलिए इसकी तुलना देश के अन्य छोटे राज्यों से नहीं की जा सकती। यहां के प्रत्येक जनपद की अपनी अलग अर्थव्यवस्था है, जिसे सुदृढ़ करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने निःशुल्क लैपटॉप वितरण योजना की अन्य राज्यों में नकल किए जाने का उल्लेख करते हुए कहा कि हाल ही में सम्पन्न कुछ प्रदेशों के चुनाव में कई दलों ने अपने घोषणा पत्र में मेधावी छात्रों को लैपटॉप वितरण का उल्लेख किया। जबकि उत्तर प्रदेश सरकार ने इण्टरमीडिएट उत्तीर्ण तथा आगे की पढ़ाई करने वाले सभी गरीब एवं साधनहीन छात्रों को लैपटॉप वितरित कर उन्हें मेधावी बनाने का अवसर प्रदान किया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सहित कई अन्य क्षेत्रों में भी काम कर रही है। सरकार के प्रयासों के चलते एम.बी.बी.एस. की 500 सीटों की बढ़ोत्तरी हुई है।

श्री यादव ने भारतीय सेना के जवानों द्वारा विषम परिस्थितियों में की जा रही सीमाओं की सुरक्षा का जि़क्र करते हुए कहा कि कदाचित दुनिया के किसी अन्य देश की सेना को इतनी चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में काम नहीं करना पड़ता है। इसके अलावा प्राकृतिक आपदा के समय में भी भारतीय सेना द्वारा जो कार्य किया जाता है, उसकी मिसाल दुनिया में और कहीं नहीं मिलती। उत्तराखण्ड की दैवीय आपदा में सेना द्वारा किए गए कार्यों की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि सेना के इसी जज्बे का पूरा देश और समाज सम्मान करता है। उन्होंने शहीद मेजर पुष्पेन्द्र देव सिंह चैरिटेबल ट्रस्ट को 10 लाख रुपए राज्य सरकार की तरफ से देने की घोषणा भी की। मुख्यमंत्री ने संस्था की तरफ से ग्रामीण क्षेत्रों के आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों को उपहार भी भेंट किए।
मीडिया द्वारा पूछे गए प्रश्नों का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार द्वारा विद्युत उत्पादन, पारेषण एवं वितरण के क्षेत्रों में गम्भीरता से काम किया जा रहा है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि राज्य सरकार के प्रयासों के फलस्वरूप वर्ष 2016 से शहरों को 24 घण्टे एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 18 घण्टे विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित हो सकेगी। उन्होंने कहा कि दफ्तरों में समय से उपलब्ध न रहने वाले अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।
इस मौके पर कारागार मंत्री राजेन्द्र चौधरी, लघु सिंचाई मंत्री राजकिशोर सिंह तथा संगीत नाटक अकादमी के अध्यक्ष नवेद सिद्दीकी सहित बड़ी संख्या में संस्था के सदस्य एवं अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। कार्यक्रम के प्रारम्भ में संस्था के अध्यक्ष ब्रिगेडियर (अवकाश प्राप्त) आर.डी. सिंह ने मुख्यमंत्री एवं अन्य अतिथियों का स्वागत किया एवं संस्था के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी।