वर्तमान सरकार की कथनी-करनी में कोई भेद नहीं: मुख्यमंत्री

 

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी विचारधारा में विश्वास रखने वाली वर्तमान राज्य सरकार कथनी एवं करनी में भेद नहीं करती। उन्होंने कहा कि जनता से किए गए वादों के मुताबिक, सरकार किसानों, छात्रों, नौजवानों सहित समाज के सभी वर्गों के लिए काम करते हुए प्रदेश को खुशहाली के रास्ते पर ले जाने का प्रयास कर रही है।
मुख्यमंत्री आज यहां झूलेलाल पार्क में आयोजित विशाल सफाई मजदूर रैली को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने लगभग 40 हजार सफाई कर्मचारियों की भर्ती करने, सीवर का कार्य करने के लिए आवश्यक संसाधनों की व्यवस्था के साथ-साथ मृत्यु होने की दशा में परिवारीजनों को 5 लाख रुपए की वित्तीय सहायता उपलब्ध कराने तथा ठेकेदारी पर काम करने वाले सफाई कर्मचारियों को वर्तमान में देय 120 रुपए प्रतिदिन के स्थान पर 250 रुपए देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि सफाई कर्मचारियों की अन्य समस्याओं के समाधान के लिए एक हाई पावर कमेटी का गठन किया जाएगा। कमेटी की संस्तुतियों के अनुरूप निर्णय लेकर सफाई कर्मचारियों को और अधिक राहत दिलाने का प्रयास किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली राज्य सरकार ने एक लाख सफाई कर्मचारी भर्ती करने की घोषणा की थी, जबकि मात्र 65 हजार कर्मचारी ही भर्ती किए गए। उन्होंने कहा कि कस्बों एवं नगरों के आकार में वृद्धि हो रही है। किसी भी नगर एवं कस्बे को अच्छा बनाने के लिए उसे साफ-सुथरा रखना आवश्यक है। ऐसे में सफाई कर्मचारियों का महत्व काफी बढ़ जाता है। उन्होंने सफाई कर्मचारियों को भरोसा दिलाया कि सरकार उनकी सुख-सुविधाओं के साथ-साथ उनके कार्य करने की परिस्थितियों में भी सुधार लाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने मुरादाबाद नगर में बड़े पैमाने पर आ रहे इलेक्ट्रानिक्स वेस्ट की चर्चा करते हुए कहा कि इससे स्थानीय नागरिकों के साथ-साथ सफाई कर्मचारियों के भी स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ेगा, इसलिए ऐसे मामलों में भी गम्भीरता से विचार करना होगा।
श्री यादव ने समाजवादी चिन्तक डा. राम मनोहर लोहिया का उल्लेख करते हुए कहा कि उन्होंने हमेशा सेवा करने वाले कर्मचारियों के बीच भेदभाव का विरोध किया। डा. लोहिया के विचारों को आगे बढ़ाते हुए राज्य सरकार सफाई कर्मचारियों को पूरा सम्मान दिलाएगी। उन्होंने कहा कि समाजवादियों की कथनी एवं करनी में भेद न करने की प्रवृत्ति पर भरोसा कर प्रदेश की जनता ने पार्टी के कार्यक्रमों एवं घोषणाओं का विश्वास करते हुए पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने में मदद की। इसलिए राज्य सरकार जनता से किए वादों को गम्भीरता से लागू करने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। उन्होंने राज्य सफाई कर्मचारी आयोग के अध्यक्ष जुगल किशोर वाल्मीकि द्वारा सफाई कर्मचारियों के हितों के लिए किए जा रहे प्रयासों की सराहना की।
इस मौके पर सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव ने कहा कि वाल्मीकि समाज सबसे निचले स्तर पर माना जाने वाला वर्ग था, लेकिन अब यह समाज किसी से पीछे नहीं है, क्योंकि यह राजनीतिक रूप से जाग चुका है। उन्होंने नगरों को निरोग एवं स्वच्छ बनाने में इस वर्ग द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि इनका कार्य सराहनीय एवं सम्मानीय है। रैली को सम्बोधित करते हुए नगर विकास मंत्री मोहम्मद आजम खां ने कहा कि वाल्मीकि समाज जमाने की दौड़ के साथ अपने आपको तैयार करे और आगे बढ़े। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार में ही वाल्मीकि जयन्ती पर अवकाश घोषित किया गया था। इसके साथ ही इस समाज की महिलाओं के कार्य के लिए निर्धारित समय को अव्यावहारिक मानते हुए तत्कालीन समाजवादी पार्टी की सरकार ने कार्य के लिए व्यावहारिक समय निर्धारित किया था, जिससे इस समाज के बच्चे भी अन्य वर्गों की तरह स्कूल जाने से वंचित न रह जाएं। पंचायती राज मंत्री बलराम यादव तथा पूर्व मंत्री अशोक वाजपेयी ने भी रैली को सम्बोधित किया। रैली में जनप्रतिनिधि तथा प्रदेश के विभिन्न जनपदों से आए सफाईकर्मी मौजूद थे।

Leave a Reply