लखनऊ के किरनपाल के नाम रही साईकिल मैराथन

– इनाम न मिलने पर प्रतिभागियों का हंगामा, तोड़फोड़

सैफई महोत्सव में आयोजित की गई साईकिल मैराथन लखनऊ के किरनपाल सिंह के नाम रही। उन्होंने 35 किमी की दूरी 50 मिनट में तय की। इनाम से वंचित प्रतिभागियों ने समारोह में हंगामा कर तोड़फोड़ भी की, जिन्हें पुलिस को खदेड़ना पड़ा।

सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव की उपस्थिति में विजेता किरनपाल सिंह को पुरस्कृत करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, साथ में सांसद धर्मेन्द्र यादव।

मैनपुरी में प्रो. रामगोपाल यादव ने हरी झंडी दिखा कर मैराथन का शुभारंभ किया, इसके बाद कस्बा करहल में सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव व सांसद धर्मेन्द्र यादव ने जोरदार स्वागत किया। सैफई के चंदगीराम स्पोर्ट्स स्टेडियम में सब से पहले लखनऊ के किरनपाल सिंह पहुंचे। दूसरा नंबर इटावा के मुलायम सिंह, तीसरा लखनऊ के ही सुदर्शन सिंह का रहा। किरनपाल सिंह को ढाई लाख, मुलायम सिंह को एक लाख और सुदर्शन सिंह को 51 हजार रूपये का नकद इनाम दिया गया। चौथे नंबर पर इटावा के मुकेश कुमार, पांचवें पर फैजाबाद के भूपेंद्र मौर्या रहे, जिन्हें 21 हजार रुपये का नकद इनाम दिया गया। सौ अन्य प्रतिभागियों को भी 10-10 हजार रुपये का नकद इनाम भी दिया गया। पुरस्कार मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भेंट किये।

उधर शेष बचे हजारों प्रतिभागी भी पुरस्कार की मांग करने लगे, तो मुख्यमंत्री ने तत्काल सर्टिफिकेट देने के साथ बाद में अलग से एक कार्यक्रम आयोजित कर पुरस्कृत करने का वादा कर दिया, लेकिन मुख्यमंत्री के जाने के बाद सर्टिफिकेट बांटते समय हजारों प्रतियोगियों ने हंगामा शुरू कर दिया। आक्रोशित प्रतियोगी तोड़फोड़ भी करने लगे, तो पुलिस ने सभी को वहां से खदेड़ दिया।

प्रतियोगिता के चलते बंद रहा मैनपुरी मार्ग

साईकिल मैराथन के आयोजन के चलते मैनपुरी मार्ग बन रहा, जिससे यात्रियों को परेशानी का भी सामना करना पड़ा। प्रतियोगिता के बाद मार्ग खोल दिया गया।

विकलांग और घायल भी हुए पुरस्कृत   

मैराथन में प्रतिभाग करने वाले विकलांग मैनपुरी के बॉबी यादव, राकेश कुमार, सहदेव और करहल के योगेश कुमार को भी पुरस्कृत किया गया। अवनीश यादव गिरकर घायल हो गये, लेकिन उन्हें भी पुरस्कृत किया गया।

Leave a Reply