रूहेलखंड मेडिकल कॉलेज प्रकरण में आरोपी तलब

– पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. अंबूमणि रामदास भी हैं आरोपी

रूहेलखंड मेडिकल कॉलेज प्रकरण में आरोपी तलब
रूहेलखंड मेडिकल कॉलेज प्रकरण में आरोपी तलब

फर्जीबाड़े के मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण डॉ. अंबूमणि रामदास को विशेष न्यायाधीश भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम आरबी शर्मा ने आठ मार्च को अदालत में तलब किया है। उनके अलावा तत्कालीन उप सचिव डॉ. केवीएस राव, पूर्व चेयरमैन रुहेलखंड मेडिकल कॉलेज, बरेली डॉ. केशव कुमार अग्रवाल, सेंट्रल टीम के निरीक्षक/पर्यवेक्षक डॉ. बिंदु अमिताभ एवं डॉ. संजीव कुमार रसानिया भी आरोपी हैं। अदालत ने उक्त लोगों को भी तलब किया है।

मामला वर्ष 2008-09 का है। केंद्र सरकार के परिवार एवं स्वास्थ्य कल्याण विभाग के कुछ अधिकारियों ने रुहेलखंड मेडिकल कॉलेज बरेली के पूर्व चेयरमैन डॉ. केशव कुमार अग्रवाल एवं अन्य के साथ षड्यंत्र कर मेडिकल कौंसिल ऑफ इंडिया के नियमों की अनदेखी करते हुए एमबीबीएस के तृतीय वर्ष के छात्रों के प्रवेश के लिए नवीनीकरण की अनुमति दे दी। इस प्रकरण में सीबीआई के विवेचक सुरेंद्र राय ने आरोपियों के विरुद्ध आरोप पत्र दाखिल करते हुए कहा है कि पूर्व उप सचिव डॉ. केवीएस रावजी लोक सेवक हैं, उनके विरुद्ध अभियोजन स्वीकृत के लिए दस जुलाई 2012 को सक्षम अधिकारी को स्पीड पोस्ट के माध्यम से पत्र भेजा गया, लेकिन सात महीने बीतने के बाद भी अभियोजन की स्वीकृत नहीं दी गई है। सीबीआई की ओर से सर्वोच्च न्यायालय द्वारा विश्वनाथ चतुर्वेदी के मामले का हवाला देते हुए कहा गया है कि निर्धारित अवधि बीत जाने के बाद स्वीकृति प्रदान न करने की अवस्था में अभियोजन की स्वीकृति मानी जाए। अदालत ने दलील मानते हुए सभी को तलब कर लिया है। अगली सुनवाई आठ मार्च को होगी।

Leave a Reply