यूपी व बिहार में छः और देश में नौ चरणों में होंगे चुनाव

यूपी व बिहार में छः और देश में नौ चरणों में होंगे चुनाव
यूपी व बिहार में छः और देश में नौ चरणों में होंगे चुनाव

चुनाव के रूप में होने वाले महासंग्राम की तिथि घोषित कर दी गई है। पांच चरणों में चुनाव होने की संभावना थी, लेकिन चुनाव नौ चरणों में होंगे और प्रथम चरण के चुनाव सात अप्रैल को मतदान होगा। 12 मई को अंतिम चरण के तहत वोट पड़ेंगे और 16 मई को परिणाम घोषित कर दिए जायेंगे। सबसे ज्यादा छठे चरण में 117 सीटों के लिए एक साथ मतदान होगा।

उत्तर प्रदेश और बिहार को बेहद संवेदनशील मानते हुए चुनाव आयोग ने इन राज्यों में छह चरणों में मतदान कराने का निर्णय लिया है। प्रथम चरण के तहत 6 सीटों के लिए 7 अप्रैल को असम और त्रिपुरा में वोट पड़ेंगे। दूसरे चरण की 7 सीटों के लिए 9 अप्रैल को अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम और नगालैंड में वोट पड़ेंगे। तीसरे चरण में 92 सीटों के लिए 10 अप्रैल को अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह, बिहार, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, हरियाणा, जम्मू कश्मीर, झारखंड, केरल, लक्षद्वीप, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, दिल्ली, उड़ीसा और उत्तर प्रदेश में वोट पड़ेंगे। चौथे चरण के तहत 5 सीटों के लिए 12 अप्रैल को असम, सिक्किम और त्रिपुरा में वोट पड़ेंगे। 122 सीटों के लिए 17 अप्रैल को पांचवें चरण के तहत बिहार, छत्तीसगढ़, गोवा, जम्मू कश्मीर, झारखंड, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, मणिपुर, उड़ीसा, राजस्‍थान, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में वोट पड़ेंगे। छठे चरण के तहत 117 सीटों के लिए 24 अप्रैल को असम , बिहार, छत्तीसगढ़, जम्मू कश्मीर, झारखंड, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, पुडुचेरी, राजस्‍थान, ‌तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में वोट पड़ेंगे। सातवें चरण के तहत 30 अप्रैल को 89 सीटों के लिए आंध्र प्रदेश, बिहार, दादर एवं नागर हवेली, दमन एवं दियू, गुजरात, जम्मू कश्मीर, पंजाब, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में वोट पड़ेंगे। आठवें चरण में 7 मई को आंध्र प्रदेश, बिहार, हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल में वोट पड़ेंगे और अंतिम नौवें चरण में 12 मई को बिहार, ‌उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में वोट पड़ेंगे। रूहेलखंड क्षेत्र में दूसरे चरण के दौरान वोट पड़ेंगे।

कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही देश भर में आचार संहिता लागू हो गई है, जिससे अब आरोप-प्रत्यारोप के साथ राजनेताओं की हरकतों पर आयोग की नज़र रहेगी। देश भर में इस बार 81 करोड़ से अधिक मतदाता हैं, जिनके लिए पिछली बार की तुलना में एक लाख अधिक मतदान केंद्र बनाये जायेंगे। आयोग ने शिकायत के लिए टोल फ्री नंबर 1950 भी जारी किया है, जिस पर शिकायतें सुनी जायेंगी और समयबद्ध रूप से कार्रवाई की सूचना शिकायतकर्ता को मोबाइल पर भेजी जाएगी।

मतदाता को इस बार वोटिंग के बाद ईवीएम द्वारा जारी की गई रसीद भी दी जायेगी, लेकिन यह सुविधा इस बार देश भर के मतदाताओं को नहीं मिल सकेगी।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

पांच चरणों में होंगे चुनाव, 16 मई को आ जायेंगे परिणाम

Leave a Reply